होम लोन सरेंडर करना चाहिए या नहीं - HOME LOAN SURRENDER HINDI

होम लोन सरेंडर करना चाहिए या नहीं ?

Print Friendly, PDF & Email

होम लोन सरेंडर करना चाहिए या नहीं, ये सवाल तब आता है मन में जब होम लोन की EMI का बोझ बहुत अधिक बढ़ जाता है, या हम होम लोन की क़िस्त को समय पर चुकाने में बिल्कुल असमर्थ हो जाते है,

और ऐसे में अक्सर मन में ऐसे ख्याल आते है कि – किसी भी तरह से हमारे ऊपर से ये होम लोन का बोझ हट जाए, और साथ में ये भी ख्याल आता है कि –

क्या होम लोन को सरेंडर कर दिया जाए ? क्या होम लोन सरेंडर हो सकता है ? और क्या होम लोन सरेंडर करना सही रहेगा ? और होम लोन सरेंडर करने का क्या प्रोसेस है ?

तो आज के इस पोस्ट में मै आपसे बिल्कुल इन्ही सारे सवालो के जवाब के बारे में बात करने वाला हु –

तो चलिए सबसे पहले जानते है –

होम लोन सरेंडर करने का मतलब क्या है ?

सरेंडर (SURRENDER) एक अंग्रेजी का शब्द है – जिसका अर्थ है – सुपुर्दगी,

यहाँ पर होम लोन सरेंडर करने का मलतब है, कि आपने जिस बैंक से लोन लिया है, उसी बैंक को , वह प्रोपर्टी वापस दे देना (सुपुर्द कर देना), और बैंक को ये बाताना कि – अब आप उस लोन की आगे की किस्तों को नहीं चुकाना चाहते, तो बैंक चाहे तो उस प्रॉपर्टी को अपने कब्जे में ले सकती है,

और फिर बैंक उस प्रॉपर्टी को बेचकर , लोन का पैसा ले ले, और बचा हुआ पैसा, उस व्यकित को दे दे, जिसने प्रॉपर्टी और होम लोन को सरेंडर किया है,

यानि जबआप चाहते है, बैंक आपसे आपका घर वापस ले ले, और बदले में आपके ऊपर से होम लोन का बोझ हट जाए, तो ऐसे केस में आप बैंक को अपने होम लोन और प्रॉपर्टी को सरेंडर करने का रिक्वेस्ट दे सकते है,

होम लोन सरेंडर करने का कारण

अब जैसे मैंने पहले कहा – होम लोन सरेंडर करने के बहुत सारे व्यक्तिगत और आर्थिक कारण हो सकते है, जिसमे तीन सबसे प्रमुख कारण है–

  1. आर्थिक स्थिति ख़राब होने से, नौकरी के छूटने या अन्य व्यक्तिगत कारणों से जब व्यक्ति लोन की किस्तों को भरने में असमर्थ हो,
  2. लोन की किस्तों को भरने वाले व्यक्ति की मृत्यु हो जाने पर जब परिवार के अन्य सदस्य लोन की किस्तों को चुकाने में असमर्थ हो,
  3. प्रॉपर्टी के भाव में कमी आ जाने पर, आर्थिक लाभ को ध्यान में रखते हुए भी लोग जानबूझकर, होम लोन को सरेंडर करने का सोच सकते है,

अब आइये बात करते है ?

क्या होम लोन सरेंडर करना सही फैसला होगा ?

अगर आप मुझसे पूछे कि – क्या आपके साथ भी ऐसा कुछ कारण हो कि आप भी होम लोन सरेंडर करने सोचे और आप मुझसे पूछे कि – क्या आपको होम लोन को सरेंडर करना चाहिए ,

तो मेरा जवाब है – बिल्कुल नहीं,

क्योकि – होम लोन को सरेंडर करने से बेहतर विकल्प है, आप खुद उस प्रोपर्टी को बेच दे और बेचे गए पैसे से बैंक का लोन चूका दे, और बैंक लोंन को चुकाने के बाद कुछ अमाउंट अगर बच जाता है, तो आपको अतिरिक्त लाभ मिल सकता है,

इसका कारण ये है कि –

बैंक को होम लोन सरेंडर करने का मतलब, बैंक को ये बताना है कि – आप दिवालिया हो चुके है और आप इस लोन को कभी भी नहीं चूका सकते, और बैंक इस बात की सुचना अपने सिस्टम में अपडेट कर देती है, आपके पैन कार्ड के साथ आपके क्रेडिट स्कोर पर इसका बहुत बुरा और नेगेटिव असर पड़ता है, और आपको फ्यूचर में किसी तरह के लोन की जरूरत पड़ने पर आपको बहुत मुश्किल से लोन मिलता है,

और दूसरा कारण ये कि – अगर बैंक आपका होम लोन और प्रोपर्टी सरेंडर करती है तो इस बात की बहुत कम सम्भावना है कि आपने जो पैसा अभी तक भरा है, उसमे से कुछ पैसा आपको वापस मिले,

क्योकि बैंक को नीलामी में सिर्फ और सिर्फ अपने बकाया लोन और व्याज की राशी से मतलब होता है और ऐसे में बैंक प्रोपर्टी को बहुत सस्ते रेट पर भी बेच सकती है,

तो मेरी राय में,

अगर आपको कभी होम लोन को सरेंडर करने की नौबत आये तो, सरेंडर करने के बजाये, आप उस प्रॉपर्टी को खुद होकर बेचे और बैंक का लोन बेचने से मिलने वाली राशी से चूका दे,

लेकिन अगर आप फिर भी होम लोन सरेंडर करना चाहते है और सरेंडर का प्रोसेस जानना चाहते है तो आइए इसके सरेंडर प्रोसेस को भी जान लेते है,

होम लोन सरेंडर करने का प्रोसेस

आप अपने बैंक से सरेंडर का प्रोसेस पता कर सकते है,

वैसे बैंक प्रोपर्टी का सरेंडर लेना पसंद नहीं करती है, क्योकि बैंक को बहुत सारे अलग अलग कानून का पालन करना पड़ता है जैसे – SARFAESI Act, 2002

(Securitisation and Reconstruction of Financial Assets and Enforcement of Security Interest Act, 2002)

लेकिन फिर भी आप होम लोन सरेंडर का रिक्वेस्ट देना चाहते है तो आप तो सादे पेपर पे एक एप्लीकेशन लिख कर भी होम लोन सरेंडर करने का रिक्वेस्ट दे सकते है,

इसके अलावा बैंक के नियमानुसार आपको अलग अलग कुछ और फॉर्म भरना और एनी FORMALITIES को कम्पलीट करना पड़ सकता है,


तो ये था आज का पोस्ट,

इस पोस्ट में हमने जाना कि – होम लोन सरेंडर करना चाहिए या नहीं, और अगर नहीं तो क्यों और अगर हा तो कैसे ?

आशा है, इस पोस्ट से आपको अच्छी जानकारी मिली होगी,

अगर आपके मने में इस पोस्ट से जुड़े कुछ सवाल हो तो आप कमेंट करके जरुर पूछे, मै आपके सवालों का जवाब देने की जरुरी कोशीश करूंगा,

पोस्ट पूरा पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.