एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम www.sharemarkethindi.com

एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम को समझाने वाली कहानी

Print Friendly, PDF & Email

क्यों लोग कड़ी मेहनत करने के बावजूद गरीब रह जाते है ?

एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम – (Passive Income)

क्या आपने कभी सोचा है ?

क्या कभी पत्थर तोड़ते रहने वाला इन्सान, अमीर बन सकता है ?

क्या 25 साल की उम्र से 60 साल तक, टोटल 35 साल लगातार काम करते रहने से, कोई आदमी अमीर बन सकता है ?

लाखो नहीं करोडो लोग, पूरी उम्र ,कड़ी मेहनत से अपना काम करते है, रोज सुबह उठते है, और रात तक काम करते रहते है ?

लेकिन इतनी मेहनत करने के बावजूद इनमे से ज्यादातर लोग, अंत में गरीब के गरीब ही रह जाते है?

और दूसरी तरफ बहुत से लोग, बहुत थोड़ी मेहनत करके भी, अमीर बन जाते है?

आखिर ऐसा क्यों होता है ?

कड़ी मेहनत करने वाले लोग गरीब क्यों रह जाते है ?

ये एक बहुत इम्पोर्टेन्ट सवाल है?

और इसका कारण समझने के लिए आपको एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम को सही तरह से समझना होगा,

और अगर आप एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम को ठीक ठीक समझ लेते है, तो आप इस बात को आसानी से समझ सकते है कि –

अमीर बनने के लिए एक्टिव इनकम नहीं बल्कि पैसिव इनकम की जरुरत होती है,

जबकि ज्यादातर लोग, यु ही जाने या अनजाने में सिर्फ एक्टिव इनकम के लिए ही काम करते रहते है, और अंत में उनके पास बहुत थोडा धन ही इकठ्ठा हो पाता है,

तो आइये, आज के इस पोस्ट में हम एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम को अच्छे से समझने की कोशिस करते है, 

ताकि आप भी  एक्टिव इनकम के साथ साथ पैसिव इनकम के लिए काम कर सकते और जीवन में  जल्द से जल्द फाइनेंसियल फ्रीडम हासिल कर सके,

एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम को समझाने वाली कहानी

एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम www.sharemarkethindi.com

एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम www.sharemarkethindi.com

एक छोटा सा गांव था , गाव  का जीवन बहुत सुखद और शांतिपूर्ण था,

लेकिन कुछ समय बाद इस गाव में सुखा पड़ने लगा, और गाव में पानी की बहुत समस्या होने लगी, और बारिश ना होने पर इस गांव में पानी नहीं रहता था,

गांव वाले पानी की इस समस्या से हमेशा के लिए मुक्ति पाना चाहते थे,

इसलिए गांव के बुजुर्गों ने गांव में नियमित रूप से पानी उपलब्ध कराने के लिए, गाव के ही दो लोग किशोर और दीपक, के साथ एक अग्रीमेंट करके, दोनों लोगो को water supply का कॉन्ट्रैक्ट दे दिया,

अब किशोर और दीपक की जिम्मेदारी थी कि वे लोग , गाव से १ मिल दूर , तालाब से ,

गाव वालो को उनकी जरुरत के अनुसार पानी की सप्लाई करेंगे,

और बदले में गाव वाले उनको पानी की हर बाल्टी की सप्लाई पर  1 रूपये देंगे,

अब जैसे ही किशोर और दीपक को ये कॉन्ट्रैक्ट मिला,

तो किशोर फ़ौरन काम शुरू कर दिया, और बाजार से कुछ बाल्टी खरीद लाया,

और रात दिन कड़ी मेहनत करके गाव से एक मील दूर स्थित झील की पगडंडी से पानी भर का गाव में बने टंकी तक पहुचाने लगा,

इस तरह किशोर तत्काल काम शुरू करके पैसे कमाने लगा,

और उसने अपनी मेहनत चालु रखा और हर दिन ज्यादा कड़ी मेहनत करके ज्यादा से ज्यादा बाल्टी पानी लाने लगा ताकि उसे ज्यादा पैसे मिल सके,

वह अपना काम कड़ी मेहनत और इमानदारी से कर रहा था,

वह सुबह से शाम तक , झील से पानी भरता था, और उसे गांव में बने सीमेंट के बड़े टैंक में खाली करता था,

किशोर हर सुबह वह गांव वालों के उठने से पहले ही उठ जाता था ताकि गांव वालों को सुबह-सुबह पर्याप्त पानी मिल सके,

सच में ये एक बहुत मेहनत वाला काम था,

लेकिन किशोर इस काम को करने से बहुत खुश था क्योंकि वह पैसे कमा रहा था, और वह अपने आपको अपने दोस्त से काफी सफल समझता था,

क्योंकि दूसरा ठेकेदार दीपक  कुछ समय के लिए गायब हो गया वह कई महीनों तक नजर भी नहीं आया, और इस बात से किशोर और भी बहुत खुश हो गया था, क्योंकि अब उसे पानी supply के इस बिजनेस में कोई दूसरा प्रतियोगी नहीं था,

और इस तरह वह सारा पैसा अकेले ही कमा रहा था,

लेकिन दूसरा कांट्रेक्टर दीपक जो गाव में पानी की supply का काम मिलने के बाद गायब हो गया था, उसने किशोर की तरह तुरंत बाल्टी से पानी की supply शुरू करने के बजाये, एक बिजनेस की योजना बनाई और साथ इस बिज़नस की शुरुआत के लिए एक कंपनी का रजिस्ट्रेशन कर लिया,

उसने अपने बिज़नस में पैसे की जरुरत को पूरा करने के लिए 4 निवेशकों को भी तैयार किया, जो दीपक के बिज़नस में पैसा लगाने के लीए तैयार थे,

उसने अपनी कंपनी में एक प्रेसिडेंट को नौकरी पर रख लिया था और 6 महीने बाद वह construction team के साथ गांव लौटा,

और अगले ६ महीने में उसकी कंस्ट्रक्शन टीम ने स्टेनलेस स्टील की पाइप लाइन बिछाकर,  गांव के बड़े टैंक को तालाब से  जोड़ दिया,

और अब इस पानी की पाइपलाइन से गाव तक आसानी से साफ़ और जितना चाहे उतना पानी बिना किसी खास मेहनत के पहुच सकता था,

पानी के पाइपलाइन का काम पूरा होने पर, पाइपलाइन के उदघाटन के लिए, उसने सभी गाव वालो को बुलाया –

और दीपक ने गाव वालो के सामने ये घोषणा की कि – वह इस पाइपलाइन के माध्यम से गाव वालो को किशोर की तुलना में ज्यादा साफ पानी उपलब्ध कराएगा, क्योकि दीपक जानता था कि गांव वाले किशोर के पानी supply में गंदगी की शिकायतें कर रहे थे,

दीपक ने एक और घोषणा की वह गांव वालों को सप्ताह में  में सातों दिन और 24 घंटे पानी की आपूर्ति कर सकता है, जबकि किशोर सिर्फ सोमवार से शुक्रवार तक कि पानी पहुंचाता था वह छुट्टियों में काम नहीं करता था,

इसके आलावा दीपक ने ये भी अनाउंसमेंट  किया कि – वह किशोर की तुलना में पानी की ज्यादा अच्छी क्वालिटी और विश्वसनीय स्रोत के बावजूद किशोर से 75 प्रतिशत कम कीमत लेगा,

गांव वालों ने इस अनाउंसमेंट का ताली बजाकर अभिवादन किया, और सभी गाव वाले बहुत खुश हुए और वे दीपक के पाइप लाइन लाइन से कनेक्शन लेने के लिए दौड़ पड़े,

दूसरी तरफ प्रतियोगिता में बने रहने के लिए, किशोर ने अब  तत्काल अपने पानी की कीमत 75% कम कर दी उसने दो नई बाल्टी भी खरीद ली और  बेहतर सेवा देने के लिए उसने अपने दो पुत्रों को भी अपने साथ काम पर कर लिया ताकि वे उसकी नाइट शिफ्ट में और छुट्टियों में उसकी मदद कर सके

लेकिन दीपक के पाइपलाइन योजना के सामने किशोर का बाल्टी वाला पानी supply टिक नहीं सका,

और कुछ ही दिन वो बहुत निराश हो गया,

किशोर जी जान से कड़ी मेहनत करने के बावजूद, वो दीपक के स्मार्ट वर्क के सामने पूरी तरह फेल हो गया था,

और किशोर की कमाई पूरी तरह से बंद हो गई,

जबकि दूसरी तरफ दीपक ने बिजनेस की एक और योजना बनाई,

और आब कम लागत और साफ पानी की डिलीवरी सिस्टम को बेचने के लिए आस पास के सभी गांव में गया, और हर गाव में एक बार पानी का पाइपलाइन लगाने के बाद उसका काम पूरा हो जाता था,

और इस तरह उसने आस पास के सभी गाव में पाइपलाइन फैला दिया और उसको सभी गाव से हर बाल्टी पानी पर सिर्फ 25 पैसा मिलता था,

दीपक का पाइपलाइन एक ऐसा सिस्टम था जिस से दीपक  चाहे वह काम करें या ना करें लेकिन लोगो के पास पानी पहुचता रहता था, और इस तरह लाखो लोगो से 25 पैसा इकठा करते करते  उसके बैंक खाते में बहुत सारा धन जमा हो जाता था,

और जल्द ही दीपक उस नगर का सबसे आमिर आदमी बन गया,

दीपक  जिन्दगी में  हमेशा सुख से रहा रहा जबकि दूसरी तरफ तरफ किशोर जिंदगी भर कड़ी मेहनत करता रहा और आर्थिक समस्याओं से जूझता रहा,

एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम- सन्देश

इस कहानी का सन्देश बिलकुल साफ़ है –

दीपक और किशोर दोनों के पास एक जैसा मौका था,

लेकिन किशोर ने बहुत कड़ी मेहनत करने पे ध्यान दिया, जबकि दीपक ने स्मार्ट वर्क किया,

और किशोर जैसा का जैसा ही रहा, लेकिन दीपक बहुत जल्द अमीर बन गया,

दोस्तों,

हमारी रियल लाइफ में भी ऐसा ही कुछ होता है,

और यही कारण है कि लोग ज्यादा कड़ी मेहनत करने के बावजूद गरीब के गरीब ही रह जाते है,

सिर्फ कड़ी मेहनत करने से आप पैसे की चिंता से कभी मुक्त नहीं होंगे, और ना ही इस तरह सिर्फ कड़ी मेहनत करके आप कभी अमीर नहीं बन सकते है,

आपको ज्यादा पैसा कमाने के लिए, और अमीर बनने के लिए स्मार्ट वर्क और दिमाग का इस्तेमाल करना होता है,

एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम क्या होता है ?

इस कहनी में बाल्टी से पानी supply करने का मतलब है – पैसे कमाने के लिए कड़ी मेहनत करते रहना, Active Income के लिए काम करते रहना, 

ध्यान दीजिए कि – कड़ी मेहनत करने से पैसा तुरंत मिलता है, लेकिन तब तक जब तक आप काम करते है,और जब तक आप काम करते है तब तक पैसा मिले, इस तरह के इनकम को एक्टिव इनकम कहा जाता है ,

एक्टिव इनकम

आज हम में से ज्यादातर लोग , इस फोर्मुले पे चलते हुए सिर्फ नौकरी कर रहे है, और पैसे कमाने के लिए सिर्फ नौकरी पर ही निर्भर है,

सिर्फ इस तरह के एक्टिव इनकम पर निर्भर होने से ज्यादातर लोग कभी अमीर नहीं बन पाएंगे, बल्कि ऐसे लोगो को पैसा कमाने के लिए हमेशा ही कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी,

सोचने वाली बात ये है की ऐसे लोगो का तब क्या होगा – अगर किसी वजह से वे काम करने लायक न रहे या उनकी नौकरी छुट जाये, या उनकी उम्र ज्यादा हो जाये, क्या तब भी ऐसे लोग पैसे कमाते रहेंगे,

तो  जवाब है – नहीं,

ऐसे लोग का किसी वजह से, जैसे ही काम बंद हो जायेगा तो, उनकी इनकम बंद हो जाएगी और इसके कारण उनकी फाइनेंसियल हालत बहुत बुरी हो जाएगी, और ये भी हो सकता है कि वे कर्ज में डूब जाये, और फिर जिन्दगी पैसे के लिए काम करने वाले रैट रेस में फसे रह जाये,

दूसरी तरफ पाइपलाइन से होने वाले इनकम को कहते है –पैसिव इनकम

पैसिव इनकम,

पैसिव इनकम यानी एक ऐसा इनकम है, जिसके लिये आपको बार बार खुद काम करने की जरुरत नहीं होती है, पैसिव इनकम में आपका पैसा आपके लिए काम करता है,

और अपने  पैसे से जितना चाहे उतना पैसा बना सकते है, और अमीर बन सकते है, साथ पैसे की चिंता से आजाद हो सकते है, फाइनेंसियली फ्री हो सकते है,

दोस्तों  मै आशा करता हु कि – आप इस विडियो के मेसेज को जरुर समझेंगे,

और पैसे कमाने के लिए सिर्फ अपनी नौकरी पर ही depend नहीं रहेंगे बल्कि कुछ और भी सोचेंगे और नौकरी के साथ साथ कुछ और भी करेंगे ,

जैसे – जॉब के साथ साथ कुछ छोटे मोटे साइड बिज़नस की शुरुआत करके,

घर, दुकान या प्लाट में निवेश करके जहा से आपको हर महीने किराये के रूप में कुछ इनकम मिल सके,

इसके आलावा भी बचत और निवेश करके आप बैंक से फिक्स्ड डिपाजिट से इंटरेस्ट कमा सकते है,

स्टॉक मार्किट investment से डिविडेंड और दुसरे लाभ कमा सकते है,

म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करके भी धन बना सकते है,

ताकि आपके पास भी अपना पैसो का पाइपलाइन हो, और आप उस पाइपलाइन से बिना काम किए भी पैसे कमाते रहे,

दोस्तों, मौके हम सभी के पास ही होते है,

अगर आप अपने जॉब के साथ खाली का इस्तेमाल करके कुछ ऐसा सीखते है, जिस से कि आपको पैसिव इनकम मिल सके तो हम सभी एक खुशहाल जिन्दगी जी सकते है,


एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम के बारे में डिटेल में मैंने पहले ही एक विडियो बनाई है, आप निचे दिए लिंक को चेक कर सकते है,

इनकम के प्रकार ACTIVE/ PASSIVE/ PORTFOLIO -विडियो 

————-

तो दोस्तों,

उम्मीद करता हु, आप समझ पाए होंगे कि इस एक्टिव इनकम और पैसिव इनकम के इस POST का वास्तविक सन्देश क्या है,

और अगर POST अच्छा लगा तो अपने सवाल या विचार को कमेंट में जरुर लिखिए ,

और एंड में थैंक्स फॉर READING

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.