BIKE INSURANCE की जानकारी हिंदी में

BIKE INSURANCE की पूरी जानकारी हिंदी में

क्या आप जानते है ?

BIKE INSURANCE भारत में कानूनन अनिवार्य है , यानी अगर आपके पास कोई BIKE (बाइक ) है तो इस बाइक का INSURANCE कराना अनिवार्य है

BIKE INSURANCE कानून अनिवार्य है .

जैसे मैंने पहले कहा – भारत में बाइक इन्सुरांस कराना अनिवार्य है, यानी,

अगर आपके पास बाइक है, और आपके पास उस बाइक की कोई INSURANCE POLICY नहीं है या आपने जो पालिसी ली थी वो EXPIRE हो गई है तो इसका मतलब ये है कि – आप कानून का पालन नहीं कर रहे है, और ऐसे में अगर आप बिना INSURANCE की बाइक रोड पर लेकर जाते है तो आपके ऊपर क़ानूनी कार्यवाही की  जा सकती है,

तो इसलिए ये जरुरी हो जाता है कि – आप BIKE INSURANCE के क़ानूनी अनिवार्यता और इसके महत्व को समझे, और इसीलिए आज के पोस्ट में मै आपसे डिटेल में BIKE INSURANCE के बारे में डिटेल में बात करने वाला हु,

आइए सबसे पहले बात करते है – BIKE INSURANCE के कुछ बुनियादी बातो के बारे में जैसे –

BIKE INSURANCE क्या होता है ?

BIKE INSURANCE यानी दो पहिया गाडियों (TWO WHEELER ) के लिए एक GENERAL INSURANCE है, अगर आपके पास कोई दो पहिया गाड़ी (टू व्हीलर) है तो आपके लिए उस TWO व्हीलर का INSURANCE (बीमा) कराना अनिवार्य हो जाता है,

अब सवाल ये है कि – बाइक या टू व्हीलर का बीमा कराना क्यों अनिवार्य है? यानी इसकी क्या जरुरत है  ?

तो इसका जवाब ये है कि – बाइक हो या टू व्हीलर वो चलती तो रोड पे ही है, और रोड पर चलते समय अगर कोई दुर्घटना या एक्सीडेंट हो जाता है, जिस से कि – बाइक चलाने वाला, या बाइक को नुकसान होता है

तो ऐसे केस में आपके पास क्या विकल्प है?

आपके पास पहला विकल्प ये है कि – दुर्घटना या एक्सीडेंट में जो भी नुकसान होगा, उसका खर्च आप अपनी जेब से करे, चाहे गाड़ी रिपेयर करने की बात हो या बाइक चलाने वाले के शरीर पे लगने वाली चोट का खर्च हो,

और अगर ऐसे अचानक होने वाली किसी दुर्घटना/एक्सीडेंट से होने वाले खर्च को आप अपनी जेब से पेमेंट करते है, तो इसका आपकी जेब/आपके बजट/आपके आर्थिक स्थिति पर बहुत बड़ा असर पड़ सकता है, और इस से आपके पुरे परिवार पर असर पड़ सकता है,

अब रोड पर चलते वक्त होने वाले एक्सीडेंट से बाइक को रिपेयर करने या आपको लगी चोट के बिल का पेमेंट करने के लिए दूसरा विकल्प है –

BIKE INSURANCE या जिसे टू व्हीलर इन्सुरांस भी कहा जाता है,

यानी, अगर आपके पास अपनी बाइक काINSURANCE है तो आप एक्सीडेंट से होने वाले सभी नुकसान के खर्च का चाहे बाइक से सम्बंधित हो या आपकी शरीर पर लगे चोट के इलाज में खर्च का हो, दोनों ही तरह के खर्च INSURANCE कंपनी से लिया जा सकता है,

और इसलिए BIKE INSURANCE कराना बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है, आप BIKE INSURANCE में प्रिमियम के रूप में लगने वाले छोटे से खर्च के द्वारा अपनी आर्थिक स्थिति पर पड़ने वाले प्रभावों को टाल सकते है,

तो इसलिए BIKE INSURANCE को सरकार ने भी अनिवार्य कर दिया है ताकि रोड पर किसी एक्सीडेंट के होने पर आप सामने वाले से लड़ने झगड़ने और उस से नुकसान की भरपाई की मांग करने के बजाये आप सीधा अपने INSURANCE कंपनी से नुक्सान का दावा कर सके,

BIKE INSURANCE में किस तरह के नुकसान से सुरक्षा (INSURANCE COVER) मिलता है ?

बाइक इन्सुरांस में आपको बाइक के साथ होने वाले सभावित बहुत सारे नुकसान से बीमा सुरक्षा (INSURANCE COVER) मिल जाता है,

और अगर बात की जाये कौन कौन से नुकसान मुख्य रूप से इसमें कवर होते तो, जवाब होगा –

पहला प्राकृतिक आपदाओ  (Natural Disaster) से होने वाले नुकसान

जैसे – बाढ़, तूफ़ान, आंधी, भूकंप, भू – स्खलन, आदि  (storms, floods, landslides, earthquakes etc.)

दूसरा – चोरी, आग लगने से होने वाला नुकसान, एक्सीडेंट या बम बिस्फोट से होने वाले नुकसान, दंगे आदि से होने वाले नुकसान,

इस तरह लगभग बाइक इन्सुरांस में सभी तरह से होने वाले नुकसानों से सुरक्षा मिल जाती है,

BIKE INSURANCE कितने प्रकार के होते है –

BIKE INSURANCE दो प्रकार के होते है –

पहला – Comprehensive Policies – ये सामान्य बाइक इन्सुरांस प्लान्स होते है जिसमे बाइक चलाने वाले और बाइक/टू व्हीलर के साथ होने वाली किसी भी प्रकार के नुकसान (Wear and tears) बीमा में कवर किये जाते है, जिसमे आंधी तूफान, आदि सब कुछ शामिल है,

दूसरा – Liability –Only Polices, – इस तरह के प्लान में सिर्फ और सिर्फ थर्ड पार्टी (रोड पर होने वाले किसी दुसरे व्यक्ति की गाड़ी से टक्कर ) के द्वारा होने वाले नुकसान को कवर किया जाता है,

BIKE INSURANCE कैसे खरीद सकते है?

BIKE INSURANCE खरीदने के दो विकल्प है –

पहला – ऑफलाइन

ऑफलाइन तरीके से बिमा पोलिसी आप, जनरल बीमा कंपनी की ऑफिस जाकर भी खरीद सकते है

और दूसरा विकल्प है – ऑनलाइन

आप बैंक बाजार, पोलिसी बाजार जैसे वेबसाइट (थर्ड पार्टी ) की हेल्प से भी बीमा कंपनी से बीमा खरीद सकते है,

टिप्स : आम तौर पर ऑफलाइन के मुकाबले में ऑनलाइन पोलिसी लेने का खर्च कम होता है,

TOP BIKE INSURANCE कंपनी के नाम

  1. Liberty General Insurance
  2. Bajaj Alianz
  3. HDFC Ergo
  4. New India Assurance

बाइक इन्सुरांस लेने के बाद डैमेज/नुक्सान होने पर क्लेम कैसे करे ?

अब अंतिम और महत्वपूर्ण सवाल कि – अगर आप bike insurance लेते है और बाइक चलाने वाले या फिर बाइक का किसी तरह का नुकसान होता है तो उसके लिए बीमा कंपनी से नुक्सान भरपाई का क्लेम कैसे करे?

तो इसका जवाब है –

बाइक में होने वाले नुकसान के लिए आपको सबसे पहले आपको बीमा कंपनी द्वारा authorized किसी service center पर जाना होगा, और वहा से आप सर्विस सेण्टर को अपनी बीमा पोलिसी दिखा सकते है,

आपको सर्विस सेण्टर की तरफ से कुछ क्लेम के फॉर्म मिलेंगे , जिसे भरना होगा और आवश्यक डॉक्यूमेंट साथ में सबमिट करना होगा,

और फिर इस तरह नुकसान भरपाई के क्लेम के लिए सर्विस सेण्टर की तरफ से आपको आवश्यक सहाता मिल जाती है,

इसके आलावा किसी भी तरह की असुविधा होने पर आप बीमा कंपनी द्के कस्टमर केयर पर भी कॉल करके सहायता ले सकते है,


तो दोस्तों,

आज के इस पोस्ट में मैंने आपसे bike insurance के बारे में डिटेल में बात की, अगर आपके मन में इस पोस्ट से जुड़ा कोई सवाल हो तो आप कमेंट कर के पूछ सकते है,

पोस्ट पूरा पढने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद.

4 Comments

  1. bipin April 1, 2019
  2. onlinehelp2019 April 24, 2019
  3. Pramod May 13, 2019
  4. Pravin June 15, 2019

Comment on This Post

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.