Bonus share kya hota hai www.sharemarkethindi.com

Bonus share | बोनस शेयर क्या होता है ?

Print Friendly, PDF & Email

Bonus share|बोनस शेयर का अर्थ,

Bonus share को समझने के लिए आइए सबसे पहले समझते है, बोनस का हिंदी अर्थ क्या है,

बोनस का हिंदी अर्थ – अतिरिक्त लाभ (premium), या पारितोषिक (Gift),

और इस तरह बोनस शेयर का अर्थ है- अतिरिक्त शेयर,

अक्सर हमें सुनने को मिलता है, कि –  “XYZ कंपनी ने बोनस शेयर जारी किए”,

या फिर – “ABC बोनस शेयर जारी करने वाली है”

अब ऐसे में हमें दो बाते समझने की जरुरत है कि आखिर बोनस शेयर क्या होता है ? और कंपनी के बोनस शेयर जारी करने से निवेशको को क्या फायदा है? और साथ ही कंपनी बोनस शेयर क्यों जारी करती है?

तो दोस्तों,

आज के इस टॉपिक में हम इसी बात को डिटेल में समझेंगे कि – BONUS SHARE क्या होता है? बोनस शेयर से कंपनी और निवेशक को क्या फायदे है? और कंपनी बोनस शेयर क्यों जारी करती है?

सबसे पहले देखते है –

बोनस शेयर क्या होता है?

बोनस शेयर, कंपनी के CURRENT SHAREHOLDER को बिल्कुल FREE दिया जाने वाला अतिरिक्त शेयर होता है,

जैसे – किशोर ने IFOSYS कंपनी के 100 शेयर ख़रीदे हुए है, और कम्पनी 1:1 (1 शेयर के बदले 1 बोनस)  के अनुपात में, बोनस शेयर जारी करने की घोषणा करती है,

तो ऐसे में किशोर को 1 शेयर के बदले 1 बोनस यानी कंपनी द्वारा 100 शेयर के बदले 100 अतिरिक्त शेयर किशोर को बिल्कुल फ्री में देगी,

और इस तरह किशोर को 1:1 के बोनस शेयर मिल जाने से किशोर के खाते में, बिना कुछ भी अतिरिक्त कीमत चुकाए कुल 200 शेयर हो जायेंगे,

बोनस शेयर के सम्बन्ध में ध्यान देने वाली बाते

(Important Notes on Bonus Share)

  1. Bonus Share बिल्कुल फ्री होता है,
  2. बोनस शेयर, हमेशा एक अनुपात (Ratio) में जारी किया जाता है, जैसे –

1:1 यानी (1 शेयर के बदले 1 बोनस)

2:1 यानी (1 शेयर के बदले 2 बोनस)

3:1 यानी (1 शेयर के बदले 3 बोनस)

4:1 यानी (1 शेयर के बदले 4 बोनस)

  1. किसी निवेशक के पास के पास पहले से उस कंपनी के जितने शेयर हैं उसी से तय होगा कि आपको कंपनी के कितने बोनस शेयर मिलेंगे, जैसे – 1:1 के अनुपात में बोनस शेयर की घोषणा पर, अगर आपके पास सौ शेयर है, तो आपको उतने ही और यानि 100 शेयर और मिल जायेंगे, और आपके पास कुल शेयर हो जायेगा – 200
  2. बोनस शेयर के सम्बन्ध में सबसे खास बात जो हमें ध्यान देना चाहिए वो ये कि –

बोनस शेयर जारी करने से निवेशक के पास “शेयर की संख्या” तो बढ़ जाती है, लेकिन “निवेश की राशी” नहीं बढती है,

क्योकि बोनस शेयर जिस अनुपात में जारी किये जाते है, कंपनी उसी अनुपात में शेयर के भाव को कम कर देती है,

जैसे – मान लीजिए किशोर ने INFOSYS के 100 शेयर 1000 प्रति शेयर से ख़रीदा हुआ है, और इस तरह किशोर ने कुल 1000 X 100 = 1 लाख रूपये निवेश किया हुआ है,

अब मान लीजिए कंपनी ने 1:1 के अनुपात में बोनस शेयर जारी किया,

तो किशोर को कुल 100 एक्स्ट्रा शेयर, बोनस के रूप में मिल जायेंगे, और किशोर के पास कुल 200 शेयर हो जायेंगे, लेकिन बोनस शेयर जारी होने पर कंपनी के शेयर PRICE भी 1:1 के अनुपात में कम हो जायेंगे, यानी शेयर का पहले price था 1000, जो अब घटकर हो जायेगा – 500 रूपये,

और इस तरह किशोर के द्वारा कुल निवेश की गई रकम होगी – 200 शेयर X 500 = 1 लाख रूपये,

 

इस तरह आपने देखा कि – बोनस शेयर जारी होने से किशोर के पास शेयर की संख्या तो दो गुनी यानी 100 से बढ़कर 200 शेयर हो गए , लेकिन दूसरी तरफ शेयर का PRICE 1000 रुपये से घटकर आधा यानी 500 रूपये प्रति शेयर हो गया,

और इसका मतलब ये हुआ कि – किशोर के पास सिर्फ सिर्फ शेयर की संख्या में बढ़ने का फायदा हुआ, लेकिन उसे किसी तरह के पैसे मिलने के मामले में कोई लाभ नहीं हुआ

Bonus Share से निवेशक को होने वाले फायदे

  1. शेयर की संख्या में वृद्धि – निवेशक के पास शेयर की संख्या बढ़ जाती है,
  2. अतरिक्त डिविडेंड का लाभ – शेयर की संख्या बढ़ने से निवेशक को ज्यादा शेयर पर डिविडेंड मिलने का लाभ होता है, जैसे – अगर ऊपर बताये गए एक्साम्प्ल में किशोर जिसके पास 100 शेयर है, और कंपनी अगर प्रति शेयर 2 रूपये का डिविडेंड देती है, तो किशोर को कुल डिविडेंड मिलेगा – 100 x 2 = 200

लेकिन किशोर को 1:1 के अनुपात में 100 एक्स्ट्रा शेयर बोनस मिलने से, किशोर के पास कुल शेयर हो जायेंगे 200 और अब किशोर को 200 शेयर पर डिविडेंड मिलेगा यानी – 200 x 2 = 400 रूपये,

  1. नए रिटेल निवेशक को लाभ – बोनस शेयर जारी होने पर कंपनी के शेयर प्राइस में कमी आ जाती है, जैसे ऊपर के एक्साम्प्ल में बोनस जारी होने से पहले infosys के शेयर का भाव था 1000 रूपये प्रति शेयर, और बोनस शेयर जारी होने के बाद infosys का शेयर का price हो जाता है – 500

इस तरह बोनस शेयर जारी होने से शेयर के भाव कम हो जाते है, जिस से नए और छोटे निवेशक भी आसानी से शेयर को खरीद सकते है,

Bonus Share से कंपनी को होने वाले फायदे

  1. जब कंपनी के पास जमा cash reserve फण्ड बहुत बड़ा हो जाता है, तो इस reserve fund को कंपनी, नए बोनस शेयर जारी करके, अपने रिज़र्व फण्ड को पूंजी यानि कैपिटल में बदल देती है,
  2. कंपनी जब बोनस शेयर जारी करती है, तो उसके शेयर के भाव में कमी आ जाती है, जिस से ज्यादा से ज्यादा लोग उस कंपनी के शेयर को कम भाव में खरीद सकते है, और ज्यादा खरीद और विक्री होने से शेयर के मार्केट में cash liquidity बहुत अच्छी हो जाती है,

Company Bonus Share क्यों Issue करती है?

Company द्वारा बोनस शेयर जारी करने का सबसे बड़ा कारण होते है, कंपनी के बढे हुए शेयर price को कम करना, जिस से की ज्यादा से ज्यादा निवेशक और आम निवेशक भी कंपनी के शेयर को खरीद सके,

इसके आलावा कंपनी अपनी रिज़र्व फण्ड को जब अपनी पूंजी को बढाने के उद्देश्य से भी बोनस शेयर जारी करती है,

भारत में बोनस शेयर जारी करने वाली कंपनी की लिस्ट

आप आसानी से कंपनी कि वेबसाइट या फिर BSE/NSE की वेबसाइट या फिर MONEYCONTROL.COM की वेबसाइट पर जाकर ये चेक कर सकते है कि कौन कौन सी कंपनी कब बोनस शेयर जारी करने वाली है –

Money Control बोनस शेयर check link

Bonus share – घोषणा (Declaration) और  Credit Dates

Bonus Share की घोषणा के तुरंत बाद बोनस शेयर नहीं दिया जाता है, बल्कि बोनस की घोषणा और Demat account में वास्तव में बोनस Credit होने में कुछ समय लगता है, जिसे आप इस तरीके से समझ सकते है –

१. Bonus Announcement Date : इस date पर बोनस देने की घोषणा कि जाती है,

२.Record Date ; ये वो Date होता है, जिस date पर कंपनी अपने account books यानी Record Books में eligible shareholders की लिस्ट बनाती है, जिनको बोनस शेयर दिया जाना होता है,

3. Ex-Bonus Date : ये date रिकॉर्ड date से १ या दो दिन पहले का date होता है, और इस date पर जिन लोगो के account में शेयर होता है, उन्ही लोगो को बोनस शेयर दिया जाता है,

4. Bonus Share क्रेडिट date : ये वो date होता है, जिस दिन वास्तव में बोनस शेयर दिया, शेयर होल्डर के अकाउंट में क्रेडिट किया जाता है,


आशा है,

इस पोस्ट से आपको बोनस शेयर के बारे में समझने में कुछ हेल्प हुआ होगा,  आप अपने बिचार को निचे कमेंट में लिख सकते है,

पोस्ट पूरा पढने के लिए आपका धन्यवाद


  1. शेयर मार्केट क्या है? What Is शेयर मार्केट ?
  2. शेयर मार्केट के फायदे – How शेयर मार्केट help us?
  3. INDIAN शेयर मार्केट का इतिहास – BSE – PART1
  4. INDIAN शेयर मार्केट का इतिहास – NSE- PART2
  5. शेयर मार्केट की जरुरत क्यों है? Why शेयर मार्केट Is Needed?
  6. STOCK MARKET में स्टॉक का भाव कम ज्यादा क्यों होता है ?
  7. शेयर मार्केट में TRADING क्या होता है?
  8. शेयर मार्केट में INVESTING क्या होता है?
  9. शेयर मार्केट में Invest करे या Trading 
  10. SHARE या SHARE कैसे ख़रीदे – 
  11. शेयर मार्केट में INVESTMENT से पहले ध्यान रखने वाली बाते 
  12. शेयर मार्केट की में निवेश शुरुआत कब करे?
  13. शेयर मार्केट में निवेश की शुरुआत कितने रूपये से करे?
  14. शेयर मार्केट में निवेश की शुरुआत कैसे करे?



3 Comments

  1. GAUTAM KUMAR April 11, 2018
  2. Sunil May 8, 2018
    • Deepak Kumar May 8, 2018

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.