cash flow pattern कैसे काम करता है

Cash Flow Pattern कैसे काम करता है ?

Print Friendly, PDF & Email

Cash Flow Pattern को समझने की जरुरत

 Cash Flow Pattern के होता है और कैसे काम करता है और आखीर cash Flow Pattern को समझने की जरुरत है ? आज के इस पोस्ट में हम इन सभी बातो को समझेंगे,

इसे भी पढ़े – Cash फ्लो स्टेटमेंट क्या होता है ?

जीवन का कटु सत्य (Hard Truth of Life )

जिन्दगी की एक बहुत बड़ी और दुखद सच्च्चाई है कि –

आज गरीब आदमी और गरीब होता जा रहा है…

और अमीर आदमी और अमीर होता जा रहा है …..

ऐसा नहीं होना चाहिए, लेकिन ऐसा हो रहा है और शायद आगे भी होता रहेगा ?

लेकिन असली सवाल तो ये है कि– ऐसा क्यों होता है ?

क्यों गरीब और अधिक गरीब क्यों होते जा रहे है और क्यों अमीर लोग और अधिक अमीर होते जा रहे है ?

आखिर ऐसा हमेशा से क्यों होता रहा है ? क्या कारण है और कौन है जो इस तरह की सिचुएशन और असमानता पैदा कर रहा है ?

अब अगर आप ये सवाल 100 लोगो से पूछते है तो हो सकता है कि आपको सौ अलग अलग जवाब मिले,

और, ये भी हो सकता है कि – 100 में से ज्यादातर लोग, इसका सारा दोष अपने देश, अपनी सरकार और उसकी नीतियों को ही दे,

और इस बात को साबित करने की कोशिस करे कि –सार दोष सरकार का है, सरकार चोर है, नेता चोर है, या सरकार के नियम और कानून ही इस तरह के है तो कोई क्या करे ?

लेकिन, सरकार और नेताओ को गरीबी का कारन समझना कित ने हद तक सही है ?

क्योकि, सच तो ये है कि सरकार को दोष देना सबसे अधिक आसान है और इसलिए ज्यादातर लोग सरकार को दोष देते है,

और इस बात को गहराई से समझने की कोशिस ही नहीं करते है कि सच में ऐसा क्यों होता है ?

क्योकि – अगर भारत की बात करे तो, पिछले 70 सालो में कितनी सरकारे आई और गई, और आगे जाने कितनी सरकारे आएँगी और जाएँगी,

लेकिन – एक बात तो तय है कि – चाहे कोई भी सरकार हो, वो कोई भी ऐसा नियम और कानून नहीं बना सकती कि – जिसके द्वारा अमीरों को आमिर होने से रोक दिया जाये और गरीबो को अमीर बना दिया जाये,

तो आइए, सरकार और नेताओ के बहस से बाहर निकलकर, इस मुद्दे के असली जबाव की तलाश करे और समझने की कोशिस करे कि – ऐसा क्यों होता है ?

जिसके कारण से –

आज गरीब आदमी और गरीब होता जा रहा है…

और अमीर आदमी और अधिक अमीर होता जा रहा है …..

तो अगर एक लाइन में मै इस सच्चाई को बताऊ कि – ऐसा क्यों हो रहा है तो वो सच्चाई है –

तो है Cash flow pattern का अंतर,

जी हा , मै विस्वास करता हु कि सच हमेशा सिम्पल और साधारण होता है, और ये भी एक ऐसा ही सच है कि –

सिर्फ और सिर्फ cash flow पैटर्न के अंतर के कारण ही गरीब आदमी और अधिक गरीब होता जा रहा है…और अमीर आदमी और अधिक अमीर होता जा रहा है …..

अब सवाल है – क्या सच में ये इतना सिम्पल और सच है ? क्या गरीब और अमीर होने में सिर्फ cash flow पैटर्न का अंतर है ?

तो जवाब है – जी हा , क्यों और कैसे, इस विडियो में आगे इस बात को हम डिटेल में समझेंगे,

ध्यान दीजिए कि – वैसे तो बहुत सारे कारण हो सकते है जिसकी वजह से गरीब लोग गरीब होते जाते है और अमीर लोग अमीर,

लेकिन Cash flow का पैटर्न , Technically वह सबसे बड़ा कारण है, जिसकी वजह से गरीब लोग गरीब होते है और अमीर लोग अमीर,

Cash Flow सबसे अधिक इम्पोर्टेन्ट शब्द

ध्यान दीजिए कि – रिच डैड पुअर डैड , इस बेस्टसेल्लिंग किताब के ऑथर रोबर्ट कियोसाकी CASH FLOW को फाइनेंस की दुनिया का सबसे अधिक महत्वपूर्ण शब्द मानते है,

और रोबर्ट मानते है कि – दुनिया की 90% जनसंख्या गरीब और मिडिल क्लास इसलिए है क्योकि उन लोगो CASH FLOW पैटर्न ही गरीब और मिडिल क्लास का है, और जब तक दुनिया के इन 90 % लोगो का CASH FLOW पैटर्न गरीब और मिडिल क्लास का रहेगा, तब तक वे कितनी भी कोशिश कर ले, कभ अमीर नहीं बन पाएंगे,

और दूसरी तरफ, दुनिया में अमीर लोगो की संख्या 10 % है, और ये अमीर लोग इसलिए अमीर है, क्योकि उनका CASH FLOW पैटर्न अमीर लोगो का है, और जब तक इन अमीर लोगो का CASH FLOW पैटर्न अमीर लोगो वाला है तब तक ये और अमीर बनते जायेंगे,

और आप ध्यान से cash फ्लो पैटर्न को समझेंगे तो आप रोबर्ट की बात की सच्चाई को समझ पाएंगे, और गरीबी और अमीरी के असली कारण और अंतर को समझ पाएंगे,

Cash Flow Pattern किस तरह से काम करता है ?

और किस तरह ये गरीब को और अधिक गरीब, मिडिल क्लास को और अधिक मिडिल क्लास और अमीर को और और अधिक अमीर बनाता है –

दोस्तों ,cash flow पैटर्न को अच्छे से समजने के लिए हमें, सबसे पहले किसी व्यक्ति के  दो फाइनेंसियल स्टेटमेंट बनांते होते है –

पहला – इनकम स्टेटमेंट, और दूसरा बैलेंस शीट

जहा इनकम स्टेटमेंट में  दो अलग अलग कॉलम बना कर एक तरफ व्यक्ति के सभी इनकम को लिखते है और दूसरी तरफ दुसरे कॉलम में उस व्यक्ति के सभी खर्चो को लिखते है,

और, बैलेंस शीट में दो कॉलम बनाकर एक तरफ व्यक्ति के पास कुल सम्पति को लिखते है और दुसरे कॉलम में उस व्यक्ति के पास कुल कर्ज या अलग अलग दायित्वों को लिखते है,

और बाद में ये समझने की कोशिस करते है – व्यक्ति के पास इनकम का सोर्स क्या है, उसके खर्च कितने है ,और उसके पास वास्तव में सम्पति कितनी है,

व्यक्ति के इनकम सोर्स और उसके सम्पति का कुल योग देख कर यह पता चलता है उसकी वास्तविक आर्थिक स्थिति कैसी है ? और उसका काश फ्लो पैटर्न किस टाइप का है?

आगे, आइए अब  ये देखते है कि – अलग अलग लोगो के ग्रुप के लोगो का फाइनेंसियल स्टेटमेंट और Cash flow pattern किस प्रकार का होता है –

सबसे पहले बात करते है एक गरीब आदमी के cash flow पैटर्न के बारे में,

 गरीब आदमी का कैश फ्लो पैटर्न (Cash flow Pattern of Poor)

गरीब आदमी का फाइनेंसियल स्टेटमेंट कुछ इस प्रकार से बनता है –

इनकम स्टेटमेंट

इनकम सोर्स – खर्च
एक्टिव इनकों (नौकरी, रोजगार)

 

रोटी कपडा और मकान,

 

 

बैलेंस शीट

सम्पति दायित्व
=0 (ना के बराबर )  

= 0 (थोड़ा बहुत )

 

 

और इस तरह आप देखेंगे कि गरीब आदमी का इनकम स्टेटमेंट ये बताता है कि – उसका आमदनी के बराबर ही उसका खर्च होता है या कभी कभी आमदनी से खर्च अधिक हो जाता है,

  1. और साथ ही आप देखेंगे कि गरीब आदमी का cash flow कुछ इस प्रकार होता है, कि उसके पास एक्टिव रूप से काम करने, नौकरी या रोजगार करने से इनकम के रूप में जो भी पैसा आता है, वो सारा पैसा उसके दैनिक जीवन यापन के खर्चो जैसे – रोटी कपडा और मकान की जरुरतो को पूरा करने में उसके पास से चला जाता है,
  2. इस तरह गरीब आदमी के पास जो भी पैसा आता है और उसके खर्चो में चला जाता है, और इस तरह उसका cash flow अक्सर नेगेटिव होता है, या फिर बराबर होता है,

 

यानि या तो गरीब आदमी अपनी आमदनी के बराबर ही खर्च करता है, या फिर कभी कभी अपनी आमदनी से अधिक खर्च कर देता है, और बाद में वह छोटे मोटे कर्ज के जाल में फस जाता है,

  1. आप देखेंगे कि गरीब आमदनी के पास उसकी आमदनी का अक्सर सिर्फ एक ही जरिया होता है, और अगर उसका काम बंद हो जाता है तो उसके पास पैसे आना भी बंद हो जाता है , गरीब आदमी सिर्फ एक ही बात में विस्वाश करता है – कड़ी मेहनत करो , तभी पैसा  मिलेगा,

 

अब अगर आप गरीब आदमी के बैलेंस शीट पर नजर डाले तो आप देखेंगे कि –

  1. उसके पास ना के बराबर ही सम्पति होती है, और इस तरह बुरे समय में अक्सर वह कर्ज मांगता फिरता है, और इस तरह उसकी आर्थिक स्थिति हमेशा ही बुरी होती है,
  2. एक और ध्यान देंने वाली बात है कि – दायित्व के कॉलम में कुछ छोटे मोटे कर्ज हो सकते है , क्योकि बैंक ऐसे गरीब लोगो को बहुत कम कर्ज देती है या नहीं देती है,

इस तरह गरीब आदमी, वासत्व में इसलिए गरीब होता है क्योकि उसके पास जितना भी पैसा आता है चाहे वह नौकरी से हो , रोजगार से हो , या अन्य किसी तरीके से, वह अपना सारा पैसा अपने जीवन यापन के ऊपर ही खर्च कर देता है,बचत के नाम पर उसके पास – उसके पास ना के बराबर ही पैसा होता है, और उसके पास कोई ऐसी सम्पति नहीं होती जो उसको अतिरिक्त इनकम दे सके,

ये पैटर्न बहुत सिम्पल है, काम करो तो पैसे आता है, और जीवन यापन के खर्चो में सारा पैसा जाता है , बैलेंस शीट पूरी तरह से 0 होता है, न ही कोई एसेट और नहीं कोई खास दायित्व,

ऐसे में अगर एक गरीब आदमी अपनी आर्थिक स्त्थिति बदलना चाहता है तो सबसे पहले उसे अपनी सोच का दायरा बढ़ाना होगा, खुले दिमाग के साथ अपने cash फ्लो पैटर्न में बदलवा लाना होगा,

और उसे अमीर बंनने वाले कैश फ्लो पैटर्न पर ध्यान देना होगा, सम्पति के कलम में वृद्धि करनी होगी, और दायित्वों को कम करना होगा, उसे अपने फिजुल्खार्चो पर भी कण्ट्रोल करना होगा,

 

मिडिल क्लास आदमी का कैश फ्लो पैटर्न (Cash flow Pattern of Middle Class)

मिडिल क्लास आदमी का फाइनेंसियल स्टेटमेंट कुछ इस प्रकार से होता है –

इनकम स्टेटमेंट

इनकम सोर्स (हआने वाला पैसा ) खर्च  (जाने वाला पैसा )
एक्टिव इनकम सोर्स (नौकरी, रोजगार)

 

रोटी कपडा और मकान, और कर्ज की क़िस्त,

 

 

बैलेंस शीट

सम्पति (जो हमारी जेब में पैसे डाले ) दायित्व (जो हमारी जेब से पैसे निकाले)
=0 (ना के बराबर, दायित्व के मुकाबले बहुत कम  )  = होम लोन क़िस्त, कार लोन, पर्सनल लोन, क्रेडिट कार्ड, अन्य लोंन की बाकी

 

 

और इस तरह आप देखेंगे कि मिडिल क्लास आदमी और गरीब आदमी के फाइनेंसियल स्टेटमेंट काफी हद तक एक जैसे ही होते है और अगर अंतर होता है वो ये होता है कि – मिडिल क्लास आदमी के पास एक अच्छी नौकरी होती है, अच्छी सैलरी मिलती है, और वह अच्छे घर में रहता है, उसके पास अच्छी गाड़िया भी होती है, खर्च करने के लिए उसके पास क्रेडिट कार्ड होता है,

मिडिल क्लास आदमी हमेशा अमीर आदमी की तरह दिखने की कोशिस करता है, लेकिन वह दरअसल अमीर होता नहीं है और इस अमीर दिखने के चक्कर में अक्सर वह बहुत सारे कर्ज ले लेता है, और बाद में वह इस कर्ज को चुकाने के लिए ही काम करता रह जाता है,

मिडिल क्लास आदमी का इनकम स्टेटमेंट ये बताता है कि – लगभग उसकी आमदनी  के बराबर ही उसका खर्च भी होता है ,या कभी कभी आमदनी कम  होता है लेकिन  उसका  खर्च अधिक हो जाता है ,

और इस तरह अगर आप मिडिल क्लास के इनकम स्टेटमेंट को देखेंगे, तो आप ये भी पाएंगे कि –

  1. उनके एक्स्पेंसेस के कॉलम में ज्यादातर पैसा बैंक से लिए कर्जो को चुकाने में खर्च हो जाता है ,
  2. और इनकम कॉलम में देखेंगे तो पाएंगे कि मिडिल क्लास के लोगो के पास इनकम का जरिया बहुत सिमित होता है, और ज्यादातर केस में एक्टिव इनकम ही उनकी कमाई का एकमात्र जरिया होता है,
  3. और वे अपने बचत के पैसे को जमा करके ऐसी चीजे खरीदते है, जो उनको सम्पति की तरह लगती है, लेकिन वास्तव में सम्पति नहीं होती है, क्योकि उन चीजो से उनको कोई आमदनी नहीं होती बल्कि उन चीजो पर उसे खर्च अधिक करना पड़ता है,,

जैसे – लोन पर लिया घर जिसमे वे खुद रहते है, लोन पर लिया कार जिसे वे खुद इस्तेमाल करते है, और इसी तरह की बहुत सारी चीजे.

अब अगर आप मिडिल क्लास आदमी के बैलेंस शीट पर नजर डाले तो आप देखेंगे कि –

  1. उनके पास सिर्फ कहने के लिए सम्पति होती है, लेकिन वास्तव में ऐसी सम्पति नहीं होती जो उनकी इनकम बढाती हो, और जिनसे उनको रेगुलर इनकम मिलता हो,

दरअसल, इस तरह की जो भी सम्पति होती है – वह वास्तव में सम्पति नहीं है क्योकि – सम्पति का मतलब होता है ऐसी कोई चीज, जिस से आपको रेगुलर आमदनी प्राप्त हो,

जैसे – मिडिल क्लास आदमी होम लोन पर लिया घर होता है, जिस पर उनको लगभग 20 साल तक हर महीने EMI भरना होता है, लोन पर ली गई कार और गाडिया होती है जिसका उनको हर महीने emi भरना होता है, उसे इस्तेमाल करने के लिए पेट्रोल डीजल और maintenance और  insurance जैसे खर्च करने होते है,

 

२. इस तरह गरीब आदमी की तरह मिडिल क्लास लोगो के पास भी कोई रियल सम्पति नहीं होती, जिस से उनको आमदनी प्राप्त हो,

इनके पास आदमनी और अपने कर्ज के खर्चो को पूरा करने के लिए रोजगार और नौकरी करने के आलावा कोई खास विकल्प नहीं होता,

 

और इस तरह मिडिल क्लास लोग , अपने इसी मिडिल क्लास लोगो के cash फ्लो पैटर्न पर चलते चलते और अधिक आर्थिक परेशानी और रैट रेस यानि चूहा दौड़ में फस जाते है…..

जहा वे अपने लिए नहीं बल्कि अपनी जिम्मेदारियों, और लोन की किस्तों को जैसे तैसे पूरा करने के लिए काम में लगे रहते है ….

 

अमीर आदमी का कैश फ्लो पैटर्न (Cash flow Pattern of Rich)

अब बात करते है –अमीर लोगो के cash flow पैटर्न के बारे में,

अमीर आदमी का cash फ्लो पैटर्न कुछ इस प्रकार होता है –

इनकम स्टेटमेंट

इनकम सोर्स – खर्च
एक्टिव इनकों (नौकरी, रोजगार)

पैसिव इनकम

पोर्टफोलियो इनकम

 

रोटी कपडा और मकान,

स्किल डेवलपमेंट

ट्रेनिंग,

किताबे

 

बैलेंस शीट

सम्पति दायित्व
बिज़नस

रियल एस्टेट

स्टॉक

बांड

बैंक बैलेंस

म्यूच्यूअल फण्ड

 बिज़नस लोन, आदि

 

 

इस तरह जब भी कीसी रियल अमीर आदमी के फाइनेंसियल स्टेटमेंट को देखेंगे तो समझ पाएंगे कि –

अमीर आदमी की आमदनी का ज्यादा हिस्सा, काम करने से नहीं बल्कि उसकी बनाई अपनी सम्पतियो से आता है, और आप ये भी देखेंगे कि अमीर आदमी की इनकम उसके खर्च के मुकाबले बहुत ज्यादा होती है.

और यही वो सबसे बड़ा अंतर है जिसके कारण गरीब लोग और गरीब होते जा रहे है और अमीर लोग और अमीर होते जा रहे है,

और इसी कॅश फ्लो पैटर्न के बारे में मै बात कर रहा हु- गरीब आदमी अपनी आमदनी के लिए पूरी तरह से अपने नौकरी और रोजगार पर निर्भर होते है, जबकि अमीर लोग ऐसी संपतिया बना लेते है जो उन्हें इनकम देती रहती है,

इसलिए कहा जाता है – गरीब आदमी पैसे के लिए काम करता है, जबकि अमीर आदमी कुछ ऐसा करता है कि पैसा उसके लिए काम करे,

आमिर आदमी के बैलेंस शीट से पता चलता है कि – अमीर आदमी के लिए उसका पैसा काम करता है और उसकी आमदनी का  ज्यादातर हिस्सा पैसिव इनकम और पोर्टफोलियो इनकम होता है, और उनके पास ऐसी संपतिया होती है जो रेगुलर इनकम देती है,

अमीर आदमी के बैलेंस शीट को ध्यान से देखने पर ये भी पता चलता है, अमीर आदमी के बैलेंस सीट में सम्पतियो की तुलना में बहुत कम दायित्व होती है,

इस तरह आमिर लोगो के  बिज़नस को लेकर एक सिम्पल सा मंत्र है,

अगर आप कोई कर्ज लो तो उसका इस्तेमाल ऐसी संपतिया बनाने में करो, और उस कर्ज से ऐसा कुछ करो, जिस से मिलने वाला लाभ ,  उस कर्ज पर चुकाए जाने वाले व्याज से बहुत अधिक हो,

जैसे – अगर 10% से कर्ज लो तो कम से कम 20% का लाभ कमाओ,या उस से ज्यादा,

इसके आलावा आप देखेंगे कि अमीर लोग हमेशा ऐसी सम्पतियो को बनाने में ध्यान देते है, जिनसे उन्हें रेगुलर लाभ मिलता रहे,

जैसे – बिज़नस, रियल एस्टेट जैसे – दुकान घर प्लाट जहा से किराये का इनकम भी हो, इसके आलावा बैंक में बड़े अमाउंट का फिक्स्ड डिपॉजिट्स, स्टॉक मार्केट में निवेश का पोर्टफोलियो, या ऐसे बिज़नस जिसमे आप खुद काम नहीं करते लेकिन आप उसमे साइलेंट पार्टनर है और आपको उस बिज़नस के लाभ से कुछ हिस्सा मिलता है,

Cash Flow Pattern : Summary (सारांश )

अगर मै अपनी बात को summarize करू तो,

आज के आर्थिक जगत में हमारे पास तीन रस्ते है –

पहला रास्ता है – जो गरीब आदमी के cash फ्लो पैटर्न पर काम करता है,

दूसरा रास्ता है – जो मिडिल क्लास आदमी के cash फ्लो पैटर्न पर काम करता है,

और तीसरा रास्ता है – जो अमीर आदमी के cash फ्लो पैटर्न पर काम करता है,

ध्यान दीजिए कि तीनो रस्ते अलग अलग है – हर रास्ते पर चलने की कीमत अलग है, और ये कोई सरकार या कोई और तय नहीं करता है, बल्कि हमें खुद तय करना होता है कि हम किस रास्ते पर चले,

इन अलग अलग रास्तो और उसकी मंजिलो के बारे आप थोड़ा गौर करेंगे तो आप समझ पाएंगे कि – गरीबो के और अधिक गरीब होने और अमीरों के और अधिक अमीर होने के पीछे असली कारण क्या है,

असली कारण ये है कि – तीनो रास्ते पर लोग चलते है, और अपनी मंजिल पाते है, अब कोई गरीब कैश फ्लो वाले रस्ते के पैटर्न पर चल रहा है, तो चाहे तो कितनी भी कड़ी मेहनत करे,या कितना भी तेज भागे, अब क्योकि वह गरीब वाले cash फ्लो पैटर्न के रास्ते पर तेजी से भाग रहा है और इस पैटर्न को बदलने की कोशिस नहीं कर रहा है तो अंत में वो और गरीब ही हो जायेगा,

जबकि दूसरी तरफ एक आदमी जो आमिर आदमी के काश फ्लो पैटर्न पर चल रहा है, अब वो कुछ भी करे, धीमें चले या तेज चले, वो धीमे धीमे और अधिक अमीर ही होता जायगा,क्योकि वह चल ही ऐसे रस्ते पर रहा है,

तो ये समझने के बाद कि कैश फ्लो पैटर्न कैसे काम करता है , अंत में मेरी रिक्वेस्ट है कि आप इस कैश फ्लो पत्तेर्क को गंभीरता  से समझे और फिर आप पता लगाये कि – आप किस रस्ते पर है और वास्तव में आप क्या पाना चाहते है,

क्योकि अगर आप आमिर बनना चाहते है लेकिन आप गरीब और मिडिल क्लास काश फ्लो पैटर्न पर चल रहे तो बहुत मुस्किले है,आपको तुरंत अपना रास्ता बदलने की जरूरत है.


पोस्ट के बारे में आप अपने विचार या सवाल कमेंट में जरुर लिखे,

पोस्ट पूरा पढने के लिए और हमसे जुड़े रहने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद.

One Response

  1. art January 3, 2019

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.