Exponential Moving average एक्सपोनेंशियल मूविंग एवरेज www.sharemarkethindi.com

Exponential Moving Average ( EMA -एक्सपोनेंशियल मूविंग एवरेज)

Print Friendly, PDF & Email

EMA – Exponential Moving Average क्या है?

Exponential Moving Average (एक्सपोनेंशियल मूविंग एवरेज)जिसे short में EMA कहा जाता है  ,

EMA एक टेक्निकल एनालिसिस का एक टूल है, जिसकी मदद से हमें स्टॉक मार्केट में स्टॉक के भाव के बारे में एनालिसिस करने में मदद मिलती है, जैसा हमने देखा इसका पूरा नाम है – Exponential Moving Average, (एक्सपोनेंशियल मूविंग एवरेज)

और वास्तव में EMA एक मूविंग एवरेज का प्रकार है, इससे पहले मूविंग एवरेज के बारे में देखा था, समझा था,

EMA – मूविंग एवरेज का एक प्रकार

मूविंग एवरेज  मुख्य रूप से दो प्रकार के होते है –

पहला SIMPLE MOVING AVERAGE (सिंपल मूविंग एवरेज ) जिसे short में SMA कहा जाता है, और SIMPLE MOVING AVERAGE के कैलकुलेशन  में सभी DATA POINT को एक समान महत्व दिया जाता है,

दूसरा – Exponential Moving Average (एक्सपोनेंशियल मूविंग एवरेज) जिसे short में EMA कहा जाता है, और Exponential MOVING AVERAGE के कैलकुलेशन  में DATA POINT के शुरुआत के DATA को कम महत्व दिया जाता है और LATEST DATA POINT को ज्यादा महत्व दिया जाता है,

SMA और EMA में अंतर

  1. SMA और EMA में सबसे बड़ा अंतर DATA के महत्व का है, जहा SMA में सभी DATA POINT एक बराबर माना जाता है, और SMA का कैलकुलेशन काफी हद तक सामान्य औसत के कैलकुलेशन जैसा होता है, जबकि EMA में DATA POINT के शुरुआत के DATA को कम महत्व दिया जाता है और LATEST DATA POINT को ज्यादा महत्व दिया जाता है,
  2. SMA का कैलकुलेशन काफी आसान है, और हम इसे आसानी से कर सकते है, जबकि EMA का कैलकुलेशन करना कठिन हो जाता है, क्योकि DATA POINT के महत्व को कैलकुलेट करने में दिक्कत आती है,

हालाँकि SMA या फिर EMA दोनों के कैलकुलेशन किसी भी टेक्निकल एनालिसिस के चार्ट सॉफ्टवेयर में बड़ी आसानी से की जा सकती है, हमें इस मैन्युअली कैलकुलेट करने की जरुरत नहीं होती,

EMA – Exponential Moving Average का क्या इस्तेमाल है?

स्टॉक मार्केट में एक कांसेप्ट है – Market Price of Stock Discounts Everything,

यानि किसी स्टॉक का मार्केट price उस स्टॉक से जुडी सभी तरह के जानकारी को बता देता है, और इस कारण से स्टॉक का लेटेस्ट price सबसे महत्वपूर्ण पॉइंट बन जाता है, Latest price Point में उस स्टॉक की सभी तरह की जानकारी शामिल मानी जाती है,

और इसी कारण से टेक्निकल एनालिसिस के समय सिंपल मूविंग एवरेज जो सभी data point को एक समान महत्व देता है, उसे उतना इफेक्टिव नहीं माना जाता है,

और मूविंग एवरेज के बेहतर इस्तेमाल के लिए Exponential Moving Average (EMA) को इस्तेमाल में लिया जाता है, क्योकि जैसा हमने पहले देखा EMA के कैलकुलेट करने के लिए हम LATEST DATA POINT को ज्यादा महत्व देते है,

और इसी कारण से EMA का इस्तेमाल करके हम स्टॉक के Price movement और stock के bullish या bearish trend को कन्फर्म करते है,

EMA – Exponential Moving Average का कैलकुलेशन

दूसरी तरफ अगर बात की जाये Exponential Moving Average (EMA) को कैलकुलेट करने की तो EMA को कैलकुलेट करना थोडा MATHEMATICAL हो सकता है,

लेकिन चार्टिंग सॉफ्टवेयर की मदद से इस आसानी से कैलकुलेट किया जा सकता है,

चार्टिंग सॉफ्टवेयर में बस आपको EMA नाम के TOOLS को सेलेक्ट करना होगा, और बाद में आपको सॉफ्टवेयर में ये INPUT लिखना होगा कि आप कितने समय (TIME FRAME) के अनुसार EMA कैलकुलेट करना चाहते है,

जैसे – 5 DAYS, 10 DAYS, 15 DAYS, 20 DAYS, 50 DAYS,

और इस तरह आप बड़ी आसानी से आपको चार्ट पर एक EMA की लाइन मिल जाएगी,

इसके अलावा अगर बात बात की जाये कि EMA को कैलकुलेट करने के पीछे क्या PROCCESS है तो वो कुछ इस प्रकार है –

अगर किसी स्टॉक का १ से 20 तारीख का DATA दिया हुआ है, और हमें 5 DAYS का EMA निकालना है तो सबसे लेटेस्ट DATA यानि पांचवे और चौथे दिन के DATA को महत्वपूर्ण मानते हुए LATEST DATA POINT को एक खास WEIGHTAGE (भार) दिया जाता है , और फिर उसके अनुसार EMA कैलकुलेट किया जाता है,

जैसे मैंने पहले कहा ,

EMA को मैन्युअली कैलकुलेट करने में काफी समय लग सकता है, लेकिन सॉफ्टवेर की मदद से इस आसानी से 2 सेकंड में किया जा सकता है,

EMA – Exponential Moving Average के ऊपर कैसे TRADE लिया जाये?

ध्यान देने वाली बात ये है कि सिर्फ MOVING AVERAGE चाहे SMA हो या EMA, इन के आधार पर भी आप स्टॉक खरीद और बेच सकते है,

जैसा आपको पता है कि SMA या EMA चार्ट में कैलकुलेट करने पर हमें एक MOVING AVERAGE LINE मिल जाती है,

अब इस LINE को ध्यान में रखते हुए हम TRADE ले सकते है,

आइए जानते है कैसे ?

  1. CURRENT PRICE अपने AVERAGE PRICE से ऊपर होने पर – अगर स्टॉक का करंट प्राइस अपने मूविंग एवरेज की लाइन से ऊपर जा रहा है, इसका मतलब मार्केट BULLISH है और इसलिए हम भी स्टॉक खरीद सकते और बुलिश ट्रेंड का लाभ उठा कर प्रॉफिट बुक कर सकते है,
  2. CURRENT PRICE अपने AVERAGE PRICE से नीचे होने पर – अगर स्टॉक का करंट प्राइस अपने मूविंग एवरेज की लाइन से नीचे जा रहा है, इसका मतलब मार्केट BEARISH है और इसलिए हम भी स्टॉक में SHORT SELLING के मौके की तलाश करना चाहिए, ताकि BERAISH TREND का लाभ उठाया जा सके,.
  3. SIDEWAYS MARKET – ध्यान देने वाली बात ये है कि MOVING AVERAGE SIDEWAYS TREND में सही तरह से काम नहीं करता है, और इसलिए SIDEWAYS MARKET के समय आपको इसका इस्तेमाल करते समय बहुत सावधानी रखनी चाहिए,

 

EMA का SWING ट्रेडिंग में इस्तेमाल

अगर आप SWING TRADING करते है, तो आप EMA के ऊपर ट्रेड ले सकते है, EMA के ऊपर बहुत POPULAR स्ट्रेटेजीज है, जिसे 50 DAYS EMA की स्ट्रेटेजीज कहा जाता है,

इसके आधार पर TRADE का SET UP कुछ इस तरह से हो सकता है –

1 . BUY and HOLD POSITION – जब CURRENT MARKET PRICE, 50 DAYS के EMA से ऊपर जा रहा तो हमें अपनी POSITION को LONG रखना है, यानि स्टॉक खरीदना है और उसे तब तक HOLD करना है जब तक BULLISH TREND चलता जा रहा है,

जैसे ही TREND के REVERESAL का संकेत मिले तो प्रॉफिट बुक करके स्टॉक से बाहर निकाल जाना है,

2. SELL AND EXIT इस तरह 50 DAYS का EMA जब करंट मार्केट प्राइस से नीचे जाने लगे तो हमें उस स्टॉक को बेच कर स्टॉक से बाहर हो जाना चाहिए

 


आशा करता हु कि TECHNICAL ANALYSIS के ये टॉपिक, आपको जरुर पसंद आया होगा, साथ ही अपने सुझाव, सवाल और कमेंट को निचे जरुर लिखे,

धन्यवाद


Technical Analysis – Introduction

  1. Technical Analysis क्या है ?
  2. Technical Analysis के क्या फायदे है ?
  3. TECHNICAL ANALYSIS की सबसे बड़ी विशेषता
  4. Technical Analysis Assumption- अवधारणा
  5. Technical Analysis के मूल तत्व
  6. Technical Analysis- Chart
  7. Technical Analysis – TREND

Candlestick chart and Pattern

  1. Technical Analysis- Candlestick chart
  2. Technical Analysis- Candlestick Pattern
  3. Technical Analysis- MARUBOZU
  4. Technical Analysis- SPINNING TOP
  5. Technical Analysis- DOJI
  6. Paper Umbrella – Hammer (Single Candlestick Pattern)
  7. Paper Umbrella – HANGING MAN (Single Candlestick Pattern)
  8. Single Candlestick Pattern -SHOOTING STAR
  9. Multiple Candlestick Pattern – BULLISH ENGULFING PATTERN
  10. Multiple Candlestick Pattern – BEARISH ENGULFING PATTERN
  11. BULLISH HARAMI PATTERN
  12. BEARISH HARAMI PATTERN
  13. PIERCING PATTERN
  14. DARK CLOUD COVER
  15. GAP UP AND GAP DOWN OPENING CONCEPT
  16. The Morning Star Pattern – मोर्निंग स्टार
  17. The Evening Star Pattern – इवनिंग स्टार
  18. कैंडलस्टिक पैटर्न के सम्बन्ध में कुछ ध्यान देने वाली बाते

Advance Technical Analysis

  1. Support and resistance (S & R) क्या होता है?
  2. Volume (वॉल्यूम)- Technical Analysis
  3. Moving Average मूविंग एवरेज

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.