हेल्थ बीमा योजना की जानकारी (Medical Insurance Hindi Guide)

हेल्थ बीमा योजना की जानकारी (Medical Insurance Hindi Guide)

हेल्थ बीमा योजना को मेडिकल इन्सुरांस पालिसी भी कहा जाता है, इसके आलावा हेल्थ बीमा योजना को मेडिक्लैम के नाम से भी जाना जाता है,

हेल्थ बीमा योजना, बीमा का एक ऐसा स्वरुप है, जो हमारे या आपके बीमारी, दुर्घटना, और स्वास्थ्य सम्बन्धी होने वाले बड़े  खर्चो से होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए कराया जाता है,

और आज के इस टॉपिक में, मै आपसे इस बारे में डिटेल में चर्चा करूँगा कि – हेल्थ बीमा योजना क्या होता है,  और हेल्थ बिमा योजना कितने प्रकार के होते है और साथ ही ये भी जानेगे कि किस हेल्थ बिमा के क्या  क्या फायदे है.

तो आइये सबसे पहले बात करते है-

हेल्थ बिमा योजना क्या होता है ?

हेल्थ बीमा योजना (मेडिकल इन्सुरांस ) किसी आदमी और बीमा कंपनी के बिच एक ऐसा अनुबंध (अग्रीमेंट ) है, जो आदमी को किसी तरह की दुर्घटना में लगने वाले चोट, फ्यूचर में होने वाली किसी बीमारी में होने वाले बड़े खर्चो की पूर्ति करता है,

और इस तरह  ये कहा जा सकता है कि  –

मेडिकल इन्सुरांस , इन्सुरांस लेने वाले को चोट और फ्यूचर में होने वाली किसी बीमारी से आर्थिक सुरक्षा प्रदान करता है.

अब आइये बात करते है, हेल्थ बीमा योजना की क्या जरुरत है ?

हेल्थ बीमा योजना की जरुरत

आज के भाग दौड़ भरी जिंदगी में, दुर्घटना, चोट, आदि बहुत बड़ी बात नहीं है, इसके अलावा भागती दौड़ती जिन्दगी में और खान पान तथा फ़ास्ट फ़ूड के ज़माने में हम सभी को तमाम तरह की बड़ी बड़ी बीमारी होने के खतरे हमेशा बने रहते है,

अब ऐसे में ये सही है कि – मेडिकल फील्ड ने बहुत ज्यादा तरक्की कर ली है, और आज बड़ी बड़ी बीमारियों का इलाज संभव हो चूका है, लेकिन सारा खेल पैसे का हो चूका है,

अगर आपके पास पैसे है, तो आप बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज भी करा सकते है, लेकिन अगर आपके पास पैसे की कमी है, तो फिर हो सकता है कि आप अपनी सभी जमा पूंजी का बड़ा हिसा मेडिकल में खर्च कर दे, और आजकल के महंगे हॉस्पिटल खर्च और बिल की वजह से आप फाइनेंसियली कई साल पीछे चले जाये,

तो अब ऐसे इस बड़ी समस्या का क्या हल है?

यानि ये एक बहुत महत्वपूर्ण सवाल ये है कि – कैसे हॉस्पिटल के बड़े बड़े खर्च और बिल के बोझ से बचा जाये, और इस तरह बढ़ते और महंगे होते हॉस्पिटल के बिल के बोझ को कैसे कम किया जाये ?

तो, दोस्तों, इस बड़ी समस्या का हल है – हेल्थ बीमा योजना (मेडिकल इन्शुरन्स)

जी हां, प्रॉपर तरीके से और समय से लिया गया हेल्थ बीमा योजना आपको, अचानक किसी बड़े हॉस्पिटल के खर्च से होने वाले खर्च को पूरा कर सकता है,

हेल्थ बीमा योजना की मदद से हम, अपने साथ होने वाले किसी भी बड़े मेडिकल खर्च के बिल को आसानी से उठा सकते है,

अब सवाल ये आता है कि – हेल्थ बीमा योजना कितने तरह के होते है ? तो चलिए इसे भी समझ लेते है –

हेल्थ बीमा योजना के प्रकार

आम तौर पर दो तरह के हेल्थ बिमा योजना मार्केट में उपलब्ध है –

पहला  – व्यक्तिगत बीमा योजना

दूसरा – फॅमिली फ्लोटर पालिसी ,

एक तरफ जहा व्यक्तिगत बिमा योजना कोई व्यक्ति सिर्फ अपनी खुद की स्वास्थ्य सम्बन्धी जरुरतो को ध्यान में रखते हुए सिर्फ खुद के लिए हेल्थ बिमा योजना लेता है,

वही दूसरी तरफ – फॅमिली फ्लोटर पालिसी , में को व्यक्ति अपने पुरे परिवार के लिए हेल्थ बीमा योजना ले सकता है,

इसके आलावा एक तीसरी तरह की हेल्थ बीमा योजना होती है, लेकिन मार्केट में इसका चलन कम है, जिसका नाम है –

तीसरा – यूनिट लिंक्ड हेल्थ प्लान

इस तरह के यूनिट लिंक्ड हेल्थ प्लान में इन्सुरांस के साथ साथ आपको एक निवेश का मौका भी मिलता है, क्योकि यूनिट लिंक्ड हेल्थ प्लान में आपको बिमा की अवधि पूरा होने पर कुछ पैसा आपको वापस भी देता है, अब इस तरह के स्कीम से आपको जो लाभ मिलता है वह निश्चित नहीं होता और स्टॉक मार्केट के ऊपर निर्भर हो जाता है,

आइए अब बात करते है – हेल्थ बीमा योजना में किस तरह का coverage या claim मिलता है-

हेल्थ बिमा योजना के कवरेज

कवरेज से मलतब है -बिमा कंपनी किस तरह के मेडिकल खर्च का और कितना अमाउंट का कवरेज दे  रही है और क्लेम किस तरह से दिया जायेगा,

आम तौर पर पालिसी लेते समय ही आपको तय करना होता है कि – आपको कौन कौन सी बीमारी और किस तरह की परिस्थितयो में आपको कितने अमाउंट तक बिमा कंपनी की तरफ से लाभ मिलने वाला है,

और जहा तक बात है कि – हेल्थ बिमा योजना के क्लेम को किस तरह से लिया जा सकता है तो इसका जवाब है –

हेल्थ बिमा योजना दो तरह का कवरेज देती है –

पहला – कैशलेस बेसिस – इस तरह के कवरेज में बीमा कंपनी, पहले से तय हॉस्पिटल में जिसे बीमा योजना से जुड़ा नेटवर्क हॉस्पिटल कहा जाता है, में जो भी खर्च होता है, वह खर्च बीमा कंपनी द्वारा सीधे हॉस्पिटल को आपके बदले में कर दिया जाता है,

दूसरा – रेइम्बेर्सेमेंट बेसिस  – इस तरह के केस में आप जो भी इलाज जहा से भी कराते है, उसमे लगने वाले सभी खर्चो को बिल सहित बीमा कंपनी के पास जमा करके, उसका भुगतान बीमा लेने वाली व्यक्ति खुद ले सकता है,

यानि Reimbursement के केस में पहले आपको अपनी जेब से खर्च करना पड़ता है, और बाद में उन सभी खर्चो का पेमेंट बिमा कंपनी द्वारा आपको वापस मिल जाता है,


इसे भी पढ़े –

  1. जीवन बीमा का महत्व समझे, Importance of Insurance
  2. टर्म इन्शुरन्स कैसे खरीदे, How to Buy Term Plan

हेल्थ बीमा योजना कैसे ले ?

आप हेल्थ बीमा योजना के बारे डेटल में इंडिया की दो पोपुलर वेबसाइट पालिसी बाजार डॉट कॉम और बैंक बाजार डॉट कॉम पर जाकर इन वेबसाइट पर दी गई जानकारी के आधार पर आप अपनी जरुरत को ध्यान में रखते हुए समय से एक अच्छा हेल्थ प्लान ले सकते है,

इन वेबसाइट के लिंक इस प्रकार है –

www.Bankbazaar.com

www.policybazaar.com

आशा है,

इस पोस्ट से आप समझ पाए होंगे कि  -हेल्थ बिमा योजन क्या है, इसकी क्या जरूरत है और ये कितने प्रकार होते है,

आप इस पोस्ट के बारे में अपने सुझाव, सवाल और विचार को नीचे कमेंट करके जरुर बताये,

पोस्ट पूरा पढने के लिए,

आपका धन्यवाद..

Keep learning …keep growing…

2 Comments

  1. Shrikant mishra October 22, 2018
  2. Sheena March 10, 2019

Comment on This Post

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.