INDIAN STOCK MARKET 2 www.sharemarkethindi

NSE -INDIAN STOCK MARKET का इतिहास – PART 2

Print Friendly, PDF & Email

INDIAN STOCK MARKET का इतिहास – NSE

आज हम बात करेंगे INDIAN STOCK MARKET में NSE की  शुरुआत कैसे हुई, और इसके पीछे की पूरी HISTORY क्या है – HISTORY OF INDIAN STOCK MARKET,

NSE यानी NATIONAL STOCK EXCHANGE की स्थापना 1994 में हुई, NSE की स्थापना से पहले भारत में SECURITIES AND CAPITAL MARKET दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले काफी पिछड़ा हुआ था, और साथ ही साथ हर्षद मेहता SCAM के बाद विश्वसनीयता भी खो  रहा था,  

ऐसे में एक TRANSPARENT TRADING SYSTEM और  NEW TECHNOLOGY  के साथ विश्व की की की अन्य देशों के मुकाबले बेहतर सुविधाएं प्रदान करे ऐसे STOCK EXCHANGE की जरुरत थी,

इसी जरुरत को पूरा करने के लिए NSE की स्थापना की गई, और आज NSE अपनी सेवाओ से निरंतर उन अपेक्षाओ को पूरा कर रहा है, जिसके लिए इसकी स्थापना की गई,

WORD FEDERATION OF EXCHANGE (WFE) के अनुसार NSE भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है और 2015 में  EQUTIY VOLUME TRADING के मामले में दुनिया का चौथा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है,

SEBI की रिपोर्ट के अनुसार NSE अपने स्थापना वर्ष 1994 के अगले 1 साल के अंदर ही TRADING AVERAGE VOLUME के हिसाब से इंडिया का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज बन गया,

NSE ने 1994 से स्क्रीन बेस्ड ट्रेनिंग की शुरुआत की,और इंडिया में इस तरह की ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म देने वाला पहला स्टॉक एक्सचेंज बन गया, इसके साथ ही सन 2000 में एनएसई ने इंडेक्स फ्यूचर की शुरुआत की जो अपने आप में अनूठा था,

NSE का विकास – एक नजर में 

1 1993 NSE की स्थापना
2 1994 SCREENBASED TRADING की शुरूआत
3 1996 CNX NIFTY 50 INDEX की शुरुआत
4 1996 DEMAT ACCOUNT TRADING की शुरुआत
5 2000 निफ्टी 50 के ऊपर आधारित INDEX FUTURE TRADING की शुरुआत
6 2001 SINGLE STOCK में FUTURE और OPTION की शुरुआत
7 2001 NIFTY 50 पे आधारित INDEX OPTION TRADING की शुरुआत
8 2010 CURRENCY TRADING की शुरुआत
9 2015 CNX निफ्टी का नाम बदलकर NIFTY 50 कर दिया गया

NSE और BSE देश के आर्थिक पूंजी बाजार के सूचक

आज हमारे देश में दोनों ही स्टॉक एक्सचेंज BSE और NSE लगभग एक ही तरीके से काम करते हैं, हालांकि दोनों के INDEX VALUE में अंतर है,

क्योंकि दोनों का INDEX अलग-अलग वर्ष से शुरू होता है, और उनकी INDEX में  शामिल कंपनियों की संख्या में भी अंतर है, जहा BSE INDEX SIRF 30 कंपनी है, वही निफ्टी-50 में 50 कंपनी है,

दोनों ही स्टॉक एक्सचेंज आज भारत की अर्थव्यवस्था को अपने INDEX , BSE SENSEX और NIFTY 50 द्वारा भारतीय अर्थव्यवस्था के पूंजी  विकास को REPRESENT करते हैं,

No Responses

  1. Pingback: BSE-History of Indian Stock Market | Share Market Hindi December 17, 2017

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.