LUMP SUM INVESTMENT MUTUAL FUND GUIDE HINDI www.sharemarkethindi.com

Lump sum investment in mutual fund

Print Friendly, PDF & Email

Lump sum investment – म्यूच्यूअल फण्ड

Lump sum investment in mutual fund , हम सभी चाहते है, कि अपने बचत के पैसो का निवेश करके ज्यादा से ज्यादा लाभ कमाए, और साथ में हमारा निवेश किया गया पैसा भी सुरक्षित रहे,

आज हमारे देश में लोग निवेश के परम्परागत तरीको से बाहर निकलकर, निवेश के बेहतर विकल्प की तलाश में है, जैसे – स्टॉक मार्केट या म्यूच्यूअल फण्ड ,

और ऐसे में एक नए निवेशक के लिए म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश सबसे ज्यादा पोपुलर निवेश का विकल्प माना जा रहा है,

दोस्तों, आज के इस टॉपिक में म्यूच्यूअल फण्ड में एकमुश्त निवेश LUMP SUM के बारे में जानेंगे, MUTUAL FUND LUMP SUM INVESTMENT क्या होता है? MUTUAL FUND में LUMP SUM INVESTMENT के क्या फायदे है? और आप MUTUAL FUND में LUMP SUM INVESTMENT किस तरह निवेश कर सकते है?

आइये सबसे पहले बात करते है –

LUMP SUM INVESTMENT क्या होता है?

What is mutual fund lump sum investment?

LUMP SUM का अर्थ है – एकमुश्त, या इकठ्ठा और इस तरह LUMP SUM INVESTMENT का हिंदी अर्थ है – एकमुश्त निवेश या एक बार में किया जाने वाला निवेश, इसे ONE TIME INVESTMENT भी कहा जा सकता है,

जिस तरह बैंक में पैसे जमा करने के दो पोपुलर तरीके है – फिक्स्ड डिपाजिट और रेकरिंग डिपाजिट, वैसे ही म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश के दो पोपुलर तरीके है – lump sum और SIP(Systematic Investment plan)

जहा LUMP SUM म्यूच्यूअल फण्ड में किया जाने वाला इस तरह का निवेश है जैसे कि बैंक के फिक्स्ड डिपाजिट में ONE TIME एक बड़ी रकम निवेश कर दिया जाये, हालाँकि फिक्स्ड डिपाजिट और म्यूच्यूअल फण्ड निवेश दोनों बिल्कुल अलग अलग निवेश है,

म्यूच्यूअल फण्ड में LUMP SUM जमा करने की न्यूतम राशी है -5000 रूपये और कुछ फण्ड में 10 हजार रूपये,

म्यूच्यूअल फण्ड लम्प सम में निवेश LUMP SUM INVESTMENT

जब निवेशक के पास एक बड़ी रकम निवेश के लिए उपलब्ध होती है, जिसे वो म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करता है, तो इस तरह एक साथ एक बड़ी रकम को ONE TIME किसी म्यूच्यूअल फण्ड में जमा करने की क्रिया को LUMP SUM INVESTMENT कहा जाता है,

जैसे – 1 लाख रूपये का किसी म्यूच्यूअल फण्ड में LUMP SUM निवेश,

निवेशक के पास एक बड़ी रकम उपलब्ध हो सकता है, जैसे – रिटायरमेंट पर मिलने वाली राशी, घर या प्लाट बेचने पर मिलने वाली राशी, या फिर बैंक में जमा की गई रकम, या किसी अन्य तरह के सोर्स जिसमे कोई बड़ी Amount एक साथ मिल जाये,

LUMP SUM INVESTMENT के  फायदे

  1. ONE TIME INVESTMENT – लम्प सम निवेश का सबसे बड़ा फायदा यही है कि इसमें पूरी रकम को एक बार में ही निवेश कर किया जाता है,
  2. INVESTMENT OF BIG AMOUNT – लम्प सम निवेश के जरिये आप कितनी भी बड़ी राशी को जमा कर सकते है,
  3. BETTER RETURN THAN BANK DEPOSITS – लम्बे समय जैसे 15 साल या 30 साल के समय में लम्प सम निवेश बैंक के FIXED DEPOSIT से काफी ज्यादा लाभ देते है,

जैसे – अगर हम 1 लाख रूपये बैंक में फिक्स्ड डिपाजिट करते है – जो 8% वार्षिक व्याज दर से हर 9 साल में दोगुना हो जाता है,  तो अगर मै अपने बच्चे के जन्म के समय 1 लाख रूपये उसके लिए 27 साल के लिए LONG TERM INVESTMENT करू तो मुझे बैंक से कुल राशी मिलेगी – 8 लाख रूपये,

लेकिन वही अगर मै उसी 1 लाख को बैंक में जमा न करके अगर किसी इंडेक्स म्यूच्यूअल फण्ड में ONE TIME LUMP SUM INVEST करू, और जैसे इंडेक्स ने पिछले 35 साल में 17 % का CAGR लाभ दिया है, तो अगर मान के चले कि अगले 27 सालो में ये निवेश मुझे अगर 16% का भी औसत CAGR लाभ देता है तो, उस 1 लाख के लम्प सम निवेश के बदले २७ साल बाद मुझे जो रकम मिलेगी वो होगी – 55 लाख

और अगर 17 % का CAGR लाभ मिला तो रकम होगी – लगभग 70 लाख,

LUMP SUM INVESTMENT के नुकसान

अगर आप LUMP SUMP INVESTMENT करते है, तो आपको कुछ बातो का जरुर ध्यान रखना चाहिए, जिस से लम्प सम निवेश के नुकसान से बच सके, लम्प सम निवेश से होने वाले कुछ नुकसान इस प्रकार है –

  1. TIME OF INVESTMENT – आप अगर ऐसे समय में लम्प सम निवेश करते है, जब स्टॉक मार्केट काफी ऊपर चल रहा है, जहा से आगे कुछ करेक्शन आने की उम्मीद है, और अगर ऐसा होता है तो आपकी पूंजी को SHORT TERM में काफी नुकसान होता है,

इसलिए लम्प सम निवेश में समय का बहुत ध्यान रखे कि जिस समय निवेश किया जा रहा है, उस समय मार्केट कैसा है.

  1. HIGHER RISK – क्योकि आप एक बड़ी रकम का एक साथ निवेश कर रहे है, जिसमे शोर्ट टर्म में काफी उतार चढाव देखने को मिलता है, इस तरह देखा जाये तो आप काफी ज्यादा RISK ले रहे है,
  2. NOT GOOD FOR SHORT TERM – स्टॉक मार्केट में लगातार होने वाले उतार चढाव के कारण लम्प सम इक्विटी निवेश को शोर्ट टर्म के लिए अच्छा नहीं माना जा सकता,और अगर आप PURE DEBT FUND में शोर्ट टर्म लम्प सम निवेश करते है, तो वो बैंक के लाभ जैसा ही लाभ मिलता है, जबकि आपक म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करके बैंक की अपेक्षा रिस्क ज्यादा उठा रहे है,

आप LUMP SUM INVESTMENT किस तरह कर सकते है?

लम्प सम म्यूच्यूअल फण्ड इन्वेस्टमेंट, उन लोगो के लिए है, जिनके पास एक बड़ी रकम है, और वे अपने निवेश पर बैंक जमा की अपेक्षा थोडा ज्यादा रिस्क उठा सकते है, और मार्केट के उतार चढाव से कुछ ज्यादा फर्क नहीं पड़ता, और वे लम्बे समय के लिए निवेश कर सकते है,

लॉन्ग टर्म में लम्प सम निवेश Power of compounding का लाभ मिलता है, और साथ ही मार्केट के शोर्ट टर्म के उतार चढाव से कुछ ज्यादा फर्क नहीं पड़ता, और आपको अच्छे CAGR (compound annual growth rate) का लाभ मिल जाता है, जो नॉर्मली बैंक के RETURN से ज्यादा होता है,

अगर आप भी म्यूच्यूअल फण्ड में लम्प सम निवेश करना चाहते है, तो म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते समय आपको लम्प सम विकल्प का चुनाव करना है,

और म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने के बारे पूरी स्टेप BY स्टेप जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक पर पढ़ सकते है –

Mutual fund investment कैसे शुरू करे

म्यूच्यूअल फण्ड में LUMP SUM INVESTMENT का ये पोस्ट आपको कैसे लगा, आप नीचे कमेंट करके जरुर बताये,

थैंक्स फॉर रीडिंग

MUTUAL FUND – हिंदी गाइड पार्ट -1 

 History of Mutual Fund  हिंदी गाइड पार्ट -2

म्यूच्यूअल फण्ड के फायदे – हिंदी गाइड पार्ट -3

 म्यूच्यूअल फण्ड कैसे बनाया जाता है- हिंदी गाइड पार्ट -4

म्यूच्यूअल फण्ड में NAV क्या होता है ? हिंदी गाइड पार्ट -5

Types of Mutual Fund- हिंदी गाइड पार्ट 6

म्यूच्यूअल फण्ड में जमा पैसा कैसे निकाले,– हिंदी गाइड पार्ट 7

2 Comments

  1. Jayant Patil March 9, 2018
    • Deepak Kumar March 9, 2018

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.