Mutual Fund Hindi Guide – PART 1

Mutual Fund

Mutual fund,- हम सभी के पास अपने बचत के पैसे, को निवेश करने के बहुत सारे विकल्प उपलब्ध है, ऐसे में Mutual fund भी निवेशको के लिए निवेश करने का एक माध्यम है,

जिस तरह निवेशक किसी भी अन्य तरह के निवेशो में निवेश करते है, जैसे फिक्स्ड डिपाजिट, आवर्ती जमा (RD), और एक निश्चित समय बाद उस पर लाभ कमाने की आशा रखते है,

वैसे ही, Mutual Fund इन्वेस्टमेंट भी, निवेश का बेहतरीन माध्यम है, जहा निवेशक, निवेश करके बेहतर लाभ कमा सकते है,

“हम सभी कम RISK के साथ निवेश करके ज्यादा लाभ कमाना चाहते है,

और ऐसे में MUTUAL FUND को कम RISK में ज्यादा लाभ कमाने वाले INVESTMENT के रूप में देखा जाता है”

ध्यान देने वाली बात है, किसी भी अन्य इन्वेस्टमेंट की तरह “Mutual Fund” में कुछ Risk होता है, एक निवेशक को किसी भी निवेश से जुड़े सभी तरह की Risk के बारे में पूरी जानकारी जरुर रखनी चाहिए,

आइये अब Mutual Fund को थोड़े विस्तार से समझने की कोशिस करते है-

MUTUAL FUND क्या है ?

Mutual Fund दो शब्दों से मिलकर बना है – Mutual और fund

Mutual का हिंदी अर्थ है – आपसी, पारस्परिक, मिला जुला, आपसी सम्बन्ध जुडाव,

और फण्ड का अर्थ है –  पैसा (एक साथ इकठा किया गया पैसा)

इस तरह Mutual Fund का अर्थ होता है – एक साथ बहुत सारे लोगो का इकठ्ठा किया गयापारस्परिक फण्ड

म्यूच्यूअल फण्ड (Mutual Fund) को शोर्ट में MF भी कहा जाता है,

इस तरह अलग अलग निवेसको से जमा पैसे, को उस म्यूच्यूअल फण्ड में पहले से बताये गए Objective और शर्त के अनुसार, स्टॉक मार्केट और गवर्नमेंट अथवा कॉर्पोरेट बांड, आदि में निवेश किया जाता है,

दुसरे शब्दों में कहे तो,

“म्यूच्यूअल फण्ड, एक ऐसा INVESTMENT SYSTEM है, जिसमे बहुत सारे लोगो के पैसे को मिलाकर एक साथ इकठ्ठा करके, एक बहुत बड़ा FUND तैयार किया जाता है,

और इस FUND को म्यूच्यूअल फण्ड के मेनेजर द्वारा  बहुत ही सुनियोजित और डाइवर्सिफाइड तरीके से निवेश के अलग अलग विकल्पों में, निवेश किया जाता है,

और इस तरह निवेश से मिलने वाले लाभ को, सभी निवेशको में उनके द्वारा निवेश किये गए अनुपात में बाट दिया जाता है”

Mutual Fund कैसे काम करता है

Mutual Fund is a Unit Investment System

म्यूच्यूअल फण्ड, निवेश का एक ऐसा सिस्टम है, जिसमे अलग अलग निवेशको से, पैसे जमा, किये जाते है, और जमा पैसे के बदले, निवेसको को यूनिट दिए जाते है,

MUTUAL FUND UNIT और MUTUAL FUND UNIT HOLDER

और इस प्रकार म्यूच्यूअल फण्ड निवेशक को यूनिट होल्डर कहा जाता है,

म्यूच्यूअल फण्ड निवेशक को दिया जाने वाला यूनिट, का एक मूल्य (Price) होता है, जिसे म्यूच्यूअल फण्ड यूनिट प्राइस भी कहा जाता है,

और ये यूनिट प्राइस,रोजाना change होता रहता है, जो म्यूच्यूअल फण्ड में निवेशक को होने वाले Profit अथवा loss को बताता है,

NFO- NEW FUND OFFER

कोई भी म्यूच्यूअल फण्ड स्कीम,जब पहली बार स्कीम में निवेश करने के लिए पब्लिक के पास जो ऑफर लाती है, उसे NEW FUND OFFER कहा जाता है,

NFO बिलकुल स्टॉक मार्केट के आईपीओ से मिलता जुलता ऑफर होता है,

NFO में निवेशक को एक फिक्स्ड PRICE में MUTUAL FUND के UNIT ऑफर किये जाते है,

जैसे अगर SBI एक लेटेस्ट म्यूच्यूअल फण्ड स्कीम लेकर आती है,तो उसके लिए KIM (KEY INFORMATION), SID (स्कीम ऑफर डॉक्यूमेंट) और लीफलेट, उसकी वेबसाइट पर देखने को मिल जाता है,

जहा ऑफर से रिलेटेड सभी INFORMATION उपलब्ध होती है,

ध्यान देने वाली बात ये है कि, NFO में एक मिनिमम इन्वेस्टमेंट AMOUNT भी होता है, जैसे -5000, या 1000 रूपये,

और NFO कुछ दिनों के लिए ओपन होता है, और बाद में CLOSE हो जाता है,

एक बार जब NFO CLOSE हो जाता है, तो मान लीजिए –

NFO से कंपनी ने 1 करोड़ रूपये जमा किये, और जिसके यूनिट PRICE 10 रूपये थे,

तो इस तरह वहा कुल यूनिट हो जाते है, 10 लाख,

और अगर मैंने 5000 रूपये NFO में लगाये, तो मुझे मिलेंगे 500 यूनिट,

अब मान लेते है,

उस म्यूच्यूअल फण्ड ने अपने ऑफर डॉक्यूमेंट बताये गए तरीके से निवेश किया और एक साल बाद उसके पास NFO से जमा 1 करोड़ पर लाभ होते है 20 लाख,

तो इस तरह, 20 लाख का प्रॉफिट सभी यूनिट में बाट दिया जायेगा,

और इस तरह, 10 लाख यूनिट में प्रत्येक को 2 रूपये प्रति यूनिट लाभ हुआ,

और एक साल बाद ,मेरे पास जो 500 यूनिट है, उस पर 2 रूपये लाभ मिलेगा, तो मेरा कुल लाभ होगा-

500 X 2 = 1000,

और 1 साल बाद उस म्यूच्यूअल फण्ड के एक यूनिट का प्राइस होगा 12 रुपए,

और अगर 1 साल बाद मेरा कोई दोस्त, वही म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना चाहता है, तो उसे 12 रूपये प्रति यूनिट के हिसाब से रूपये निवेश करने होंगे,

MUTUAL FUND एक डाइवर्सिफाइड निवेश होता है,

म्यूच्यूअल फण्ड की खास बात ये है कि, अलग अलग लोगो से जमा पैसे को म्यूच्यूअल फण्ड, निवेश पर बेहतर और नियमित लाभ कमाने के उद्देश्य से, स्टॉक मार्केट में अलग अलग इंडस्ट्रीज अथवा सेक्टर्स की अलग अलग कंपनी के SHARES में निवेश करती है,

जिस से कि शेयर बाजार में निवेश के RISK को CONTROL करके लाभ कमाया जा सके,

अलग अलग शेयर्स में निवेश के पीछे मुख्य उद्देश्य डायवर्सिफिकेशन होता है,

सभी स्टॉक हमेशा एक दिशा में आगे नहीं बढ़ते, कभी कुछ शेयर के भाव बढ़ते है, तो कुछ शेयर के भाव में कमी आ जाती है, और ये हमेशा चलता रहता है,

अब ऐसे म्यूच्यूअल फण्ड, स्टॉक मार्केट के इस बुनियादी FACT को ध्यान में रखते हुए, अलग अलग इंडस्ट्रीज या सेक्टर की कंपनी के शेयर में निवेश करती है, ताकि अगर किसी कंपनी के शेयर के भाव में कमी आ जाये, तो दुसरे कंपनी के शेयर में तेजी बनी रहे,

इस तरह कहा जा सकता है, की

म्यूच्यूअल फण्ड में हजारो निवेसको द्वारा निवेश किये गए रकम को, उस म्यूच्यूअल फण्ड के मेनेजर द्वारा, एक सुनियोजित और डाइवर्सिफाइड तरीके से निवेश करके, निवेश के रिस्क को कण्ट्रोल किया जाता है, और निवेशको को नियमित तथा बेहतर लाभ देने की कोशिस की जाती है,

MUTUAL FUND और STOCK MARKET INVESTMENT

म्यूच्यूअल फण्ड और स्टॉक मार्केट इन्वेस्टमेंट में काफी गहरा सम्बन्ध है, क्योकि म्यूच्यूअल फण्ड का ज्यादातर पैसा स्टॉक मार्केट में निवेश किया जाता है,

“म्यूच्यूअल फण्ड” स्टॉक मार्केट में निवेश करने का इनडायरेक्ट तरीका है”

ये भी कहा जा सकता है, Mutual Fund स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने का इनडायरेक्ट तरीका है, क्योकि निवेशक म्यूच्यूअल फण्ड में जो भी पैसा जमा करते है, उस म्यूच्यूअल फण्ड का ज्यादा हिस्सा स्टॉक मार्केट में ही निवेश किया जाता है,

“जो लोग स्टॉक मार्केट में निवेश करना चाहते है, लेकिन उन्हें स्टॉक मार्केट इन्वेस्टमेंट के बारे में जानकारी की कमी है, ऐसे में वे लोग अपना पैसा “म्यूच्यूअल फण्ड” के माध्यम से स्टॉक मार्केट में लगा सकते है,

 

क्योकि म्यूच्यूअल फण्ड मेनेजर स्टॉक मार्केट का एक एक्सपर्ट व्यक्ति होता है ,जो अपने ज्ञान और कौशल का इस्तेमाल करके , म्यूच्यूअल फण्ड के निवेसको का पैसा, स्टॉक मार्केट में निवेश करता है,”

म्यूच्यूअल फण्ड लेटेस्ट प्रमोशन

…………..

“MUTUAL FUND GUIDE” के इस पहले भाग बस इतना ही, मिलते है अगले पार्ट में तब तक ले, Keep learning , Keep Smiling,

दोस्तों, अगर ये पोस्ट अच्छा लगा तो नीचे अपना कमेंट करना न भूले ….

History of Mutual Fund – हिंदी गाइड पार्ट -2

म्यूच्यूअल फण्ड के फायदे -हिंदी गाइड पार्ट -3

म्यूच्यूअल फण्ड कैसे बनाया जाता है- हिंदी गाइड पार्ट -4

म्यूच्यूअल फण्ड में NAV क्या होता है ? हिंदी गाइड पार्ट -5

Types of Mutual Fund- हिंदी गाइड पार्ट 6

 

 

Comment on This Post

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.