SENSEX और NIFTY क्या है www.sharemarkethidi.com

SENSEX और NIFTY क्या बताता है?

Print Friendly, PDF & Email

इंडिया के स्टॉक एक्सचेंज,

भारत में दो प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज है – सेंसेक्स और निफ्टी (SENSEX AND NIFTY )

NIFTY क्या है?

SENSEX क्या है?

SENSEX और NIFTY क्या बताता है?

SENSEX और NIFTY हमें स्टॉक मार्केट में होने वाले बदलाव को बतलाता है, और साथ ही SENSEX और NIFTY भारत की अर्थव्यवस्था का सूचक भी है, 

अक्सर ज्यादातर आम आदमी से पूछा जाये कि स्टॉक मार्केट इंडेक्स यानी SENSEX और NIFTY हमें क्या बतलाता है,

तो जवाब कुछ ऐसा ही होगा – SENSEX और NIFTY सिर्फ स्टॉक मार्केट के बारे में बतलाता है,

जो कि पूरी तरह सही नहीं है –

आम आदमी ये मानता है कि स्टॉक मार्केट यानी SENSEX और NIFTY में होने वाले बदलाव का उस पर असर नहीं होता, जबकि सच्चाई ये है –

स्टॉक मार्केट इंडेक्स यानी , साथ ही SENSEX और NIFTY को देखकर स्टॉक मार्केट में इंडिया की टॉप 30 या टॉप 50 कंपनी में हो रहे मार्केट कैपिटल के बदलाव को बहुत आसानी से समझा जा सकता है, साथ ही लम्बे समय में सेन्सेक्स हमारी देश की बढती हुई अर्थव्यवस्था को भी बताता है,

और अर्थव्यवस्था में होने वाले बदलाव का असर हम सभी पर होता है, और इसलिए स्टॉक मार्केट इंडेक्स में भी होने वाले बदलाव का असर लम्बे समय में आम आदमी और हम सभी पर दीखता है,

आज हम इसी प्रश्न को थोडा डिटेल में समझेंगे कि आखिर – आम आदमी और स्टॉक मार्केट का क्या सम्बन्ध है?

आम आदमी और स्टॉक मार्केट का सम्बन्ध

हमें बार बार टीवी पर, न्यूज पर, पेपर में, बिज़नस समाचार में , या किसी भी News Paper के आर्थिक कालम में निफ्टी और सेन्सेक्स में हुए बदलाव को क्यों बताया जाता है?

क्या सेन्सेक्स और निफ्टी में हो रहे बदलाव को आम आदमी की जिंदगी पर कोई असर होता है या नहीं होता?

क्या सेन्सेक्स और निफ्टी में हो रहे बदलाव का फर्क सिर्फ उन्ही लोगो को पड़ता है जो स्टॉक मार्केट में निवेश करते है?

और क्या उन्ही लोगो को निफ्टी या सेन्सेक्स देखना चाहिए जो स्टॉक मार्केट में निवेश करते है?

आइये समझने की कोशिश करते है –

एक आम आदमी जो स्टॉक मार्केट में निवेश नहीं करता, और ना कभी करना चाहता है, और इस लिए उसे लगता है कि -स्टॉक मार्केट में हो रहे बदलाव का उसकी जिंदगी पर कुछ भी फर्क नहीं पड़ने वाला क्योकि वो स्टॉक मार्केट में निवेश नहीं करता और न ही कभी करना चाहता है,

लेकिन समझने वाली बात ये है कि सेन्सेक्स और निफ्टी सिर्फ स्टॉक मार्केट के बारे में ही नहीं बताता, बल्कि ये हमारी आम जिंदगी को भी बहुत आसान तरीके से समझाता है, कि किस तरह से हम सबकी आर्थिक जिन्दगी में लगातार बदलाव हो रहे है,

स्टॉक मार्केट मेरी और और आपकी जिन्दगी में हो रहे आर्थिक बदलाव को किस तरह बताता है?

ये बहुत मजेदार है और समझना बहुत जरुरी है कि स्टॉक मार्केट का हम सभी की आर्थिक जिंदगी में हो रहे बदलाव को किस तरह से आसानी से बता सकता है

आइए इसे भी समझ लेते है –

मान लेते है कि –

हम में से किसी ने भी आज तक शेयर बाजार में निवेश नहीं किया, और ना ही हम निवेश करना चाहते है, लेकिन हम सभी के पास मान लीजिए एक भारती एयरटेल का मोबाइल कनेक्शन है,

अब क्योकि सभी के पास भारती एयरटेल का मोबाइल कनेक्शन है, तो हम सभी भारती एयरटेल को महीने के महीने रेंटल पे करते है, तो इस वजह से भारती एयरटेल की sales, बिक्री यानी revenue बढ़ जाती है,

और जब उसकी विक्री या sales बढती है तो लम्बे समय में भारती एयरटेल का प्रॉफिट यानि लाभ भी ज्यादा होता है,

जब उनका मुनाफा ज्यादा होता है, तो इसलिए उनके शेयर का भाव भी ऊपर जाता है,

और अगर उनका शेयर का भाव ऊपर जाता है, और भारती एयरटेल जो इंडिया की टॉप 30 कंपनी में आता है, और भारती एयरटेल निफ्टी या सेंसेक्स का एक हिस्सा है,

और इसलिए जब भारती एयरटेल के शेयर बढ़ते है तो सेंसेक्स या निफ्टी जो टोकरी है, उसका प्राइस भी ऊपर चला जाता है,

इसका मतलब क्या ?

इसका मतलब जब भी मै और आप भारती एयरटेल से ज्यादा मोबाइल ख़रीदे,

या HDFC बैंक से से ज्यादा लोन ले,

या मारुती से ज्यादा गाडी ख़रीदे,

या इंडियन आयल से ज्यादा पेट्रोल या डीजल ख़रीदे,

तो इन टॉप 30 या टॉप 50 कम्पनी का sales बढ़ जाती है,

और अगर इनकी sales ऊपर जाती है, तो इनका मुनाफा भी ऊपर जाता है,

और अगर इनका मुनाफा ऊपर जाता है, तो इनके शेयर का भाव भी ऊपर जाता है,

और जब इनका शेयर का भाव ऊपर जाता है,

तो  SENSEX और NIFTY जो टॉप 30 या टॉप 50 कम्पनी की पूरी बास्केट है, उसका भाव भी ऊपर जाता है,

यानी हम सभी ने जैसे ही ज्यादा सामान ख़रीदा तो  SENSEX और NIFTY ऊपर जा रहा है, और ठीक यही होगा जैसे ही हम सामान कम खरीदने लगे,

जैसे ही हम सामान कम खरीदेंगे , बड़ी बड़ी कंपनी का Sales कम होगा, sales यानी विक्री कम होने से उनका प्रॉफिट भी कम होगा, और जब प्रॉफिट कम होगा, तो उन कंपनी के शेयर के भाव में कमी आएगी ,

और जब बड़ी बड़ी कम्पनी जो SENSEX और NIFTY में शामिल है, उनके शेयर के भाव कम होने से SENSEX और NIFTY में भी गिरावट आएगी ,

और इस तरह आप देखेंगे कि – SENSEX और NIFTY सिर्फ हमारे शेयर बाजार को नहीं दर्शाता, बल्की ये हमारी पूरी अर्थव्यवस्था को दर्शाता है,

हमारी अर्थव्यवस्था

आइये अब अर्थव्यवस्था को भी समझ लेते है,

अर्थव्यवस्था एक बहुत बड़ा सब्जेक्ट है, इसे आसानी से समझने के लिए हमें GDP को समझना होगा

आपने अर्थव्यवस्था में जीडीपी नाम सुना होगा – GDP यानि GROSS DOMESTIC PRODUCT

जिसका हिंदी अर्थ है – सकल घरेलु उत्पाद,

यानी जीडीपी का मतलब होता है –  एक निश्चित समय में किसी देश में उत्पादित होने वाले कुल GOODS और SERVICES को PRODUCE की कीमत,

अब मान लेते है –

इंडिया के अन्दर हम जो गुड्स और सर्विसेज PRODUCE और CONSUME करते है, वो लगभग SAME है,

(ऐसा इसलिए क्योकि हम जितना कमा सकते है, लम्बे समय में उतना ही खर्च करते है, और इसी से हमारा बजट बनता है, आय= खर्च)

तो फिलहाल भारत में, हम जो हर साल गुड्स या सर्विसेज CONSUME करते है, वो कितने अमाउंट का है, उसी को हम जीडीपी के नाम से जानते है, और फ़िलहाल हिंदुस्तान की जीडीपी लगभग सवा 2 ट्रिलियन डॉलर की है,

यानी लगभग 150 लाख करोड़ के आस पास,

इसका मतलब हम सब हिन्दुस्तानियों ने मिलके पिछले साल 150 लाख करोड़ का माल या तो ख़रीदा है या बेचा है,

और उस 150 लाख करोड़ में से आप जानकर हैरान हो जायेंगे कि –

जीडीपी का 50 % हिस्सा यानी लगभग 75 लाख करोड़ हमारी टॉप 50 कंपनी का मार्केट वैल्यू है, जो मिलकर हमारी निफ्टी बनती है,

इसका मतलब sensex या निफ्टी सिर्फ स्टॉक मार्केट  को नहीं बल्कि हमारी पूरी अर्थव्यस्था को दर्शाता है, और हमारी खरीदने की क्षमता को भी दर्शाता है,

और जैसे जैसे हमारी चीजो को खरीदने की क्षमता बढती है, वैसे वैसे हमारी अर्थव्यवस्था भी बढती है,

और हम सभी के ऊपर अर्थव्यवस्था में हो रहे बदलाव का बहुत असर होता है, वैसे ही हम में से हर किसी पर स्टॉक मार्केट में हो रहे बदलाव का डायरेक्टली या INDIRECTLY असर जरुर होता है,


आशा है , इस पोस्ट से आप जन पाए होंगे कि स्टॉक मार्केट में SENSEX और NIFTY  सिर्फ स्टॉक मार्केट के बारे में नहीं बताता, बल्कि ये हमारी पूरी अर्थव्यवस्था को दर्शाता है, और चाहे हम शेयर बाजार में निवेश करे या नहीं , इसका असर हम सभी की जिंदगी पर पड़ता है,

अगर पोस्ट अच्छा लगा तो नीचे अपना कमेंट जरुर लिखे –


इसे भी पढ़े…..

BULLS और BEARS स्टॉक मार्केट

NIFTY क्या है?

SENSEX क्या है?

 Stock Market ki Jarurat kyo hai

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.