Stock Market ki Jarurat kyo hai

Print Friendly, PDF & Email

Stock Market की जरुरत क्यों है ?(What is need of Stock Market)

स्टॉक मार्केट में किसी भी तरह की शुरुआत से पहले, एक नए आदमी के मन में अक्सर ये दो प्रश्न जरुर आते है,

पहला प्रश्न – आखिर स्टॉक मार्केट की शुरुआत कैसे हुई? ( How stock Market started ?)

और दूसरा प्रश्न – आखिर स्टॉक मार्केट की जरुरत क्यों है? (What is need of Stock Market)

मेरे ख्याल से आप भी इन सवालों के जवाब जरुर जानना चाहते होंगे,

अगर ऐसा है, तो आप हमारे साथ बने रहिये,

क्योकि आज हम इन्ही दोनों सवालों का जवाब बिलकुल आसान भाषा में समझने की कोशिश करेंगे कि ,

आखिर स्टॉक मार्केट कि शुरआत कैसे हुई और इसकी जरूरत क्यों है ?

आइये पहले देखते है,

स्टॉक मार्केट की शुरआत कैसे हुई और इनकी जरुरत क्यों है ?

स्टॉक मार्केट का जन्म – आवश्यकता (Need of Stock Market)

आपने एक हिंदी की बहुत मशहूर कहावत जरुर सुनी होगी,

कि – आवश्यकता ही अविष्कार की जननी होती है,

स्टॉक मार्केट का जन्म यानी इसकी शुरुआत के पीछे भी एक बहुत बड़ी आवस्यकता थी,

और इस आवस्यकता का नाम है – पूंजी की आवश्यकता,

एक बिज़नस को बड़े पैमाने पर चलाने के लिए पूंजी की आवश्यकता,

(Need  Capital to run a Business on Large Scale,)

जब भी किसी कंपनी को अपना बिज़नस बहुत बड़े पैमाने पर बढ़ाना होता है,

तो उन्हें बहुत ज्यादा पैसे की जरूरत यानी पूंजी की जरुरत होती है,

पूंजी प्राप्त करने के विकल्प 

और ऐसे में इन कंपनियों के पास अपने बिज़नस को बढ़ाने के लिए पूंजी के रूप में पैसे इकठा करने के अलग अलग कुछ विकल्प है-

पहला – किसी बैंक से लोंन लेना

दूसरा –  ऐसा पूंजीपतियो से लोन लेना जिनके पास बहुत पैसा हो,

और तीसरा – स्टॉक मार्केट, जिसे हम कैपिटल मार्केट भी कहते है,

अब पहला विकल्प जो बैंक है – बैंक से लोंन लेना ,

दोस्तों, बैंक हमेशा व्याज पर ही पैसा देती है, और एक नए बिज़नस के लिए,

जो कि बहुत कम लाभ कमा पाती है और कभी कभी उसे LOSS भी होता रहता है,

ऐसे में  बैंक का व्याज एक नए बिज़नस के लिए बहुत बड़ा खर्च बन जाता है,

और कंपनी के ऊपर हमेशा बैंक का कर्ज चुकाने का दबाव बना रहता है,

ऐसे में कंपनी बहुत बड़े पैमाने पर काम नहीं कर पाती,

अब जो दूसरा विकल्प है,

किसी पूंजीपति से कर्ज लेना और बिज़नस करना-

इस विकल्प में किसी भी पूंजीपति से  लोन लेने पर उस पूंजीपति को व्याज चुकाना होता है या लाभ में फिक्स्ड हिस्सा देना होता है,

और इस तरह कंपनी के ऊपर हमेशा बैंक का कर्ज चुकाने का दबाव बना रहता है, और ऐसे में कंपनी बहुत बड़े पैमाने पर काम नहीं कर पाती,

अब आता है – तीसरा और सबसे बड़ा विकल्प

स्टॉक मार्केट यानि कैपिटल मार्केट से पैसे यानी बिज़नस बढ़ने के लिए पूंजी इकठा करना,

अब ऐसे में स्टॉक मार्केट ही एक कम्पनी के लिए सबसे बेहतर बिकल्प होता है,

जहा से ये कम्पनी कुछ लेगेल प्रोसेस को कम्पलीट करके अपनी जरुरत के मुताबिक पूंजी प्राप्त कर लेती है,

और उस पूंजी को वापस करने का कंपनी के पुअर कोई भी दबाव नहीं होता,

और ना ही किसी तरह का व्याज देने का बोझ होता है,

अगर कम्पनी स्टॉक मार्केट में अपने स्टॉक बेच कर पूंजी इकठा करती है,

तो कंपनी अपने फ्यूचर ग्रोथ प्लान के हिसाब से काम कर सकती है,

और अपना बिज़नस बड़े पैमाने पर कर सकती है,

स्टॉक मार्केट –  अर्थ व्यवस्था की जरुरत (Impact on economy)

इस तरह स्टॉक मार्केट हमारी आज कि अर्थव्यवस्था की सबसे बड़ी जरूरत है,

जिसकी वजह से सभी बड़ी कंपनिया इतने बड़े पैमाने पर बिज़नस कर पाती है,

आज हम जितनी भी बड़ी से बड़ी कम्पनी देखते है

जैसे- गोदरेज ,बजाज,रिलायंस, हिंदुस्तान यूनिलीवर, टाटा, कोलगेट,एशियन पेंट ,नेस्ले इंडिया,

और ऐसे ही बहुत सारी कंपनियों कि एक लम्बी लिस्ट है,

जो अपने बिज़नस को और ज्यादा बढ़ने के लिए पूंजी की आवश्यकता को स्टॉक मार्केट से ही पूरा करती है.

अब अगर आप देखे कि स्टॉक मार्केट कि जरुरत क्यों है तो इसका सीधा सा उत्तर है ,

कि स्टॉक मार्केट कि जरुरत इसलिए है जिस से कि,

कोइ भी कंपनी अपनी  बिज़नस को बढ़ाने के लिए,

उसे पूंजी की जो आवश्यकता होती है, वो स्टॉक मार्केट से ही पूरा हो सकता है,

स्टॉक मार्केट के बिना किसी भी कंपनी को इतनी बड़ी मात्रा में पूंजी इकठ्ठा कर पाना संभव नहीं है,

आशा है,

आप समझ पाए होंगे कि स्टॉक मार्केट की जरुरत (Need of Stock Market) क्यो है.


अगर पोस्ट अच्छा लगा तो नीचे अपना कमेंट या सवाल जरुर लिखे,

No Responses

  1. Pingback: Is the Stock Market Gambling or Business | Share Market Hindi December 15, 2017

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.