Technical Analysis Assumption

Print Friendly, PDF & Email

Assumption in Technical Analysis (Technical Analysis की अवधारणा)

स्टोक मार्केट में कुछ Technical Analysis Assumption है जो इसके आधार है, और Technical Analysis के इन Assumption को समझना बहुत जरुरी हो जाता है,अगर बात की जाये की Technical Analysis आखिर का क्या आधार है,

तो Technical Analysis पूरी तरह STOCK के पिछले PRICE DATA पर आधारित है, और आज हम उसी BASE यानी Technical Analysis के पीछे कि अवधारणा के बारे में बात करेंगे,

Technical Analysis का इस बात से कोई लेना देना नहीं है, किसी STOCK का मूल्य उसके BOOK VALUE से बहुत ज्यादा है, या बहुत कम है, यानी STOCK OVERVALUED है या UNDERVALUED,

Technical Analysis पूरी तरह STOCK कि पिछले PRICE DATA की STUDY करने पर आगे STOCK का PRICE कहा जा सकता है, पिछले PRICE DATA के आधार पर STOCK का PRICE बढ़ेगा या घटेगा, पूरी तरह से सिर्फ इसी बात कि संभावना को व्यक्त करता है,

और अगर हम बात करे कि Technical Analysis किस बात पर आधारित है, तो हमें ये याद रखना चाहिए कि Technical Analysis Study नीचे बताये गए चार तथ्यों पर आधारित है, जिसे हम Technical Analysis का ASSUMPTION कहते है,

  1. Markets discount everything
  2. The ‘how’ is more important than ‘why’
  3. Price moves in trend
  4. History tends to repeat itself

आइये आगे हम इन अवधारणा यानी Technical Analysis के ASSUMPTIONS के बारे में DETAILS में बात करते है-

  1. Markets discount everything-

दोस्तों, Technical Analysis की इस अवधारणा के अनुसार किसी STOCK का  PRICE उन सभी बातों से प्रभावित होता है जो उस STOCK से RELATED होती है, भले ही किसी को कुछ पता हो या नहीं , मार्केट में शेयर का भाव, उस STOCK से जुड़ी बहुत सारी बातों को STOCK अपने PRICE में हो रहे CHANGES के द्वारा बताता रहता है,

जैसे- किसी कम्पनी के एक खास आदमी को कंपनी के किसी ऐसे CONTRACT के बारे में पता चलता है, जिस से कंपनी को फायदा होने वाला है, तो वह इस बात का फायदा उठाने के लिए चुपचाप कंपनी के SAHARES को बड़ी मात्रा में खरीदेगा, ताकि जैसे ही उस CONTRACT के बारे में लोगो को NEWS द्वारा पता चलेगा, तो लोग उस SHARES को खरीदेंगे, और इस तरह DEMAND बढ़ने से SHARE का PRICE बढेगा और वह आदमी उस वक्त अपने शेयर को बेच कर लाभ कमा सके,

तो जैसे ही वह बड़ी QUANTIY में SHARES खरीदेगा, तो उस कि इस ACTIVITY से  SHARE के PRICE में तुरंत CHANGES आने लगेंगे, और इस तरह एक Technical Analyst इस तथ्य को पहचान लेगा, और वो भी  इस मौके का फायदा उठा सकता है.

इस तरह यह इस अवधारणा को स्पष्ट करता है, SHARES का PRICE सब कुछ कहता है, उसे बस समझने कि जरुरत होती है,

  1. The ‘how’ is more important than ‘why’

स्टॉक मार्केट कि इस अवधारणा के अनुसार, Technical Analysis में इस बात पे जोर दिया जाता कि STOCK का PRICE “कैसे’ कम या ज्यादा हो रहा है, और आने वाले समय में ये किस तरह और कम या ज्यादा हो सकता है,ताकि अवसर देख कर लाभ उठाया जा सके,

ना कि इस बात को समझने कि स्टॉक का PRICE “क्यों” कम या ज्यादा हो रहा है,और आने वाले समय में क्यों कम या ज्यादा होगा.

इसलिए कहा जाता है – कि “Technical Analysis में HOW ज्यादा महत्पूर्ण है, ना कि WHY”

अगर बात कि जाये ऊपर वाले EXAMPLE कि तो यहाँ  एक Technical Analyst इस बात कि STUDY करेगा कि, STOCK का PRICE कैसे ऊपर या नीचे जा रहा है,और इस तरह उस STOCK के आने वाले समय में ऊपर या नीचे जाने कि क्या सम्भावना है,

दूसरी तरफ वह यह इस बात का पता लगाएगा यानी वह यह नही पूछेगा कि “ स्टॉक का PRICE क्यों बढ़ रहा है”

  1. Price moves in trend

स्टॉक मार्केट कि इस अवधारणा के अनुसार, Technical Analysis इस बात पे आधारित है कि STOCK हमेशा TREND को FOLLOW करता है, और इसलिए जब  मार्केट में एक TREND बन जाता है तो STOCK उस TREND को FOLLOW करता है,

Trend का मतलब एक ऐसा पैटर्न, जो किसी एक दिशा की ओर जाता है , जैसे या तो Trend ऊपर जाएगा, या Trend नीचे जाएगा, या फिर एक Price Range में ही ऊपर नीचे होता रहेगा,

Trend तीन तरह का होता है,

1)Trend जब ऊपर जाता है तो उसे UP Trend कहा जाता है,

2) Trend जब नीचे जाता है तो उसे Down Trend कहा जाता है ,

3) Trend जब ज्यादा ऊपर या ज्यादा नीचे नही जाके, सिर्फ एक छोटे Price Change के Range में तो उसे Sidways Trend कहा जाता है ,

4) History Tend To Repeat Itself

स्टॉक मार्केट कि इस अवधारणा के अनुसार, Technical Analysis इस बात पे आधारित है कि STOCK का PRICE हमेशा एक Pattern और Trend के अनुसार बार बार REPEAT होता है, जैसे एक UPTREND के बाद PRICE में आने वाला CORRECTION, और एक DOWN TREND के बाद CORRECTION या UP TREND,

स्टॉक का PRICE, TREND के अनुसार इस लिए बार बार REPEAT होता है, क्योकि मार्केट में लोग हमेशा किसी STOCK के PRICE पर लगभग एक जैसा REACTION बार बार करते है,

जैसे – अगर MARKET, UP TREND में है, तो सभी लोग बढ़ते भाव को देख कर और खरीदना चाहते है, जिस से भाव बढ़ता जाता है, और अचानक DOWN TREND आने पर सब लोग गिरते भाव को देख कर अपने अपने शेयर्स बेचना चाहते है,

ये HUMAN NATURE है जो बार बार दोहराई जाती है, और इसी कारण SHARE MARKET भी अपने PRICE को एक PATTERN और TREND के अनुसार बार बार REPEAT होता रहता है.

Technical Analysis Assumption बहुत ही महत्त्वपूर्ण है, इसी के आधार पर पूरा Technical Analysis आधारित है,

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.